फिर तोड़ी गई आंबेडकर की प्रतिमा, दलितों ने दिया धरना

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

सादात। योगी सरकार की लाख चेतावनी के बावजूद डॉ.भीमराव आंबेडकर की प्रतिमाओं को क्षतिग्रस्त करने का सिलसिला थम नहीं रहा है। बहरियाबाद थाने के मीरपुर गांव में शरारती तत्वों ने डॉ.भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त कर दी। घटना सोमवार की भोर में करीब चार बजे की है। इसके विरोध में दलितों ने मौके पर ही धरना शुरू कर दिया। उनमें महिलाएं, बच्चे भी शामिल थे। इस मामले में गांव के ही तीन लोगों के खिलाफ नामजद एफआइआर दर्ज कराई गई है। खबर मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया। मौके पर एसडीएम सैदपुर सत्यम मिश्र तथा सीओ सैदपुर मुन्नी लाल गोंड पहुंचे। उन्होंने आश्वासन दिया कि नामजद अभियुक्तों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा। साथ ही क्षतिग्रस्त प्रतिमा की मरम्मत कराई जाएगी। कुछ ही दिन पहले मरदह और करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र में डॉ.आंबेडकर की प्रतिमा क्षतिग्रस्त की गई थी। बसपा के जोनल कोआर्डिनेटर विनोद बागड़ी ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि सत्ताधारी दल भाजपा की बौखलाहट का यह परिणाम है। भाजपा के लोगों को पता है कि अब सत्ता उनके हाथ से जाने वाली है। लिहाजा उसके लोग समाज में भाईचारा को खत्म करने पर आमादा हैं। सीओ सैदपुर ने कहा कि मीरपुर में डॉ.आंबेडकर की प्रतिमा काफी आकर्षक और भव्य है। वह डॉ.आंबेडकर जयंती पर वहां पहुंचे थे।