बाबा बर्फानी के भक्तों के लिए खुशखबरी, अब लगा सकेंगे जयकारा

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। बाबा बर्फानी के भक्तों के लिए खुशखबरी की खबर है। अब अमरनाथ गुफा में कोई भी श्रद्धालु या व्यक्ति हिम शिवलिंग के सामने खड़ा होकर जयकारा लगा सकता है। ‘आजतक’ के मुताबिक सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण(एनजीटी) के आदेश को निरस्त कर दिया। मालूम हो कि पिछले साल एनजीटी ने अंमरनाथ गुफा को साइलेंस जोन घोषित करने का आदेश दिया था। उस आदेश के तहत वहां शोर मचाना, गर्मी, घंटा बजाने वगैरह पर रोक लग गई थी। प्राधिकरण का कहना था कि इससे हिम महाशिवलिंग पर असर पड़ता है और जल्दी पिघलने की आशंका बनी रहती है। एनजीटी ने यह भी स्पष्ट किया था कि पवित्र गुफा की तरफ जाने वाली करीब 30 सीढ़ियों पर यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि कोई श्रद्धालु कोई सामान लेकर नहीं जाए। यह खुद अमरनाथ बोर्ड की परंपरा है। एनजीटी ने कहा था कि कुछ मंदिरों मे बात करने की मनाही है और वहां पर साइलेंस जोन है। जैसे कि बहाई मंदिर, तिरुपति और अक्षरधाम मंदिर। वहीं अमरनाथ में ध्वनि के कारण लैंडस्लाइड का ख़तरा बढ़ जाता है। ऐसे में पर्यावरण की दृष्टि से बेहद संवेदनशील होने और इलाके में ग्लेशियरों की संवेदनशीलता को ध्यान में रखते हुए यहां शोर-शराबा नहीं होना चाहिए और यात्रियों की संख्या भी सीमित होनी चाहिए। आपको बता दें कि इससे पहले एनजीटी ने आदेश जारी करते हुए माता वैष्णो देवी में एक दिन में सिर्फ 50 हजार यात्री ही दर्शन करने के निर्देश दिए थे। एनजीटी के आदेश के खिलाफ वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने भी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। सुप्रीम कोर्ट ने एनजीटी के उस आदेश पर भी रोक लगा दी थी।

यह खबर भी पढ़ें–हद है! आंबेडकर प्रतिमा तोड़े