समायोजन की नीति पर शिक्षकों को आपत्ति, बीएसए से मिल जताए असंतोष

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। बेसिक शिक्षा विभाग में समायोजन नीति को लेकर शिक्षक असंतुष्ट हैं। टेट प्राथमिक शिक्षक संघ का प्रतिनिधिमंडल सोमवार को बीएसए श्रवण कुमार से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने शिक्षका निदेशक के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि छात्र-शिक्षक अनुपात 1-40 से अधिक और 1-20 से कम नहीं होना चाहिए। इस दायरे में ही सरप्लस शिक्षकों का समायोजन किया जाए। समायोजन में शिक्षामित्रों की मौजूदगी को नहीं जोड़ा जाना चाहिए। वह संविदा कर्मी हैं।

फिर गैर जिलों से आए शिक्षकों का एकल विद्यालयों में तैनाती और अब उन्हीं विद्यालयों में सरप्लस शिक्षक दिखाना सवाल खड़ा करता है। साथ ही यह भी ख्याल रखा जाए कि जिन विद्यालयों में सभी सहायक शिक्षक सरप्लस हो चुके हैं। वहां से उन्हें हटाना मुनासिब नहीं होगा। मसलन सदर ब्लाक का पीथापुर विद्यालय। अंग्रेजी माध्यम के लिए चयनित विद्यालयों में पुराने शिक्षकों का पदस्थापन उनके विकल्प के अनुसार किया जाए। किन्हीं विद्यालयों में तैनात पांच-छह शिक्षामित्रों का भी समायोजन होना चाहिए।

प्रतिनिधिमंडल का कहना था कि कई विद्यालयों में जानबूझ कर बच्चों की संख्या कम दिखाई गई है। उनमें सुधार किया जाए। इस मौके पर गैर जिलों से आए शिक्षकों के वेतन भुगतान की व्यवस्था भी शीघ्र सुनिश्चित करने की मांग हुई। प्रतिनिधिमंडल में संगठन के उपाध्यक्ष प्रफुल्ल राय के अलावा दिलीप राय, विकाश राय, पूजा राय, शिप्रा श्रीवास्तव, आयूष सिंह, कृष्णानंद राय, भारत प्रसाद आदि थे।

यह भी पढ़ें–पीएसी के जवान का बेटा लुटेरा

यह भी पढ़ें–…पर उन्हें गंगा मैया ने बुला लिया

संबंधित ख़बरें...