बेटे के लिए थी जियुतिया व्रत, रात में घर से निकली और सुबह मिली लाश

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। बेटे के लिए मंगलवार को निर्जला जियुतिया व्रत रखी और रात को रहस्यमय स्थिति में लापता हो गई। सुबह नोनहरा थाना क्षेत्र के खालिसपुर गांव के पास रेल पटरी पर उसकी क्षत-विक्षत लाश मिली। महिला सुनीता देवी(30) पत्नी अरुण खरवार शहर कोतवाली के कैथवलिया नई बस्ती की रहने वाली थी। उसका मायका जमानियां कोतवाली के लठिया गांव में था। घरवालों के मुताबिक वह अन्य व्रती महिलाओं संग शाम को पूजा की। फिर सोने चली गई लेकिन भोर में वह अपने विस्तर पर नहीं थी। घरवाले यह मान कर कि शौच के लिए गई होगी, कुछ देर उसका इंतजार किए लेकिन फिर भी उसका पता नहीं चला। बाद में सूचना मिली कि किसी महिला की लाश रेल पटरी पर पड़ी है। घरवाले पहुंचे तो सुनीता की लाश देख सन्न रह गए। एसओ नोनहरा इंद्रकांत मिश्र ने बताया कि यह स्पष्ट नहीं है कि यह हादसा है कि खुदकुशी लेकिन सवाल यह है कि वह आखिर रात को घर से किसी को बिना बताए क्यों निकली। फिर घर से काफी दूर रेल पटरी पर वह कैसे पहुंची। फिलहाल इस मामले में कोई तहरीर नहीं मिली है।

संबंधित ख़बरें...