प्रमुख समाजसेवी और चिकित्सक एसपी श्रीवास्तव का निधन, ज्येष्ठ पुत्र मोहित ने दी मुखाग्नि

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। शहर के प्रमुख समाजसेवी तथा प्रख्यात चिकित्सक एसपी श्रीवास्तव(72) अब नहीं रहे। शनिवार की सुबह अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी। वाराणसी ले जाते वक्त रास्ते में उनका दम टूट गया। वह पिछले कई साल से मधुमेह तथा उच्च रक्तचाप से पीड़ित थे। डॉ.एसपी श्रीवास्तव की अंतिम यात्रा रविवार की दोपहर उनके तिलक नगर आवास से निकली। दाह संस्कार गाजीपुर श्मशान घाट पर हुआ। मुखाग्नि ज्येष्ठ पुत्र एवं जी माउंट लिटरा स्कूल के निदेशक मोहित श्रीवास्तव ने दी।

डॉ.एसपी श्रीवास्वत अपने पीछे चिकित्सक पत्नी सुमन श्रीवास्तव के अलावा दो पुत्रों का भरापूरा परिवार छोड़ गए हैं। उनके कनिष्ठ पुत्र मयंक श्रीवास्तव सिंगापुर में स्टैंडर्ड चार्टेड बैंक के वाइस चेयरमैन हैं। एसपी श्रीवास्तव रोटरी क्लब के कई साल तक अध्यक्ष भी रहे। उन्हीं की अगुवाई में रोटरी क्लब का गाजीपुर में पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत हुई थी। इसके अलावा रेडक्रास सोसायटी सहित कई संस्थाओं से भी सक्रिय रूप से जुड़े रहे।

उनके निधन की खबर मिलने के बाद शोक संवेदना जताने के लिए उनके आवास पर संचार एवं रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा, पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह के अलावा नगर पालिका के पूर्व चेयरमैन विनोद अग्रवाल, प्रमुख समाजसेवी विवेक कुमार सिंह शम्मी सहित समाजसेवा और राजनीति से जुड़े कई जाने-माने चेहरे भी पहुंचे थे। पीजी कॉलेज के संस्थापक एडवोकेट राजेश्वर सिंह की अध्यक्षता में उनके आवास पर शोक सभा हुई। उसमें डॉ.एसपी श्रीवास्तव के निधन पर गहरा शोक जताया गया। शोकसभा में हाईकोर्ट के अपर महाधिवक्ता अजीत सिंह, वरिष्ठ अधिवक्ता रामपूजन सिंह, बृजनाथ सिंह, राजनारायण सिंह, दिनेश कुमार सिंह, प्रो.बीबी सिंह, वंशनारायण राय, रवींद्र नाथ पांडेय, कृपाशंकर सिंह, डॉ.धनंजय सिंह, डॉ.लवजी सिंह, डॉ.यशवंत सिंह, प्रो.बालेश्वर सिंह आदि थे। संचालन राणा प्रताप सिंह ने किया।

यह भी पढ़ें–लूट खातिर टपकाए, मुठभेड़ में धराए

यह भी पढ़ें–कप्तान हुजूर! गले नहीं उतरी कहानी