धूम-धाम से मना रविदास जयंती

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर : संत शिरोमणि रविदास की जयंती पर नगर में मंगलवार को भव्य शोभा यात्रा व जुलूस निकाला गया। पूजन-अर्चन कर प्रसाद वितरित किया गया। बैंडबाजा के धुन पर युवक थिरकते हुए चल रहे थे। जगह-जगह सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। संत रविदास के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके बताए रास्ते पर चलने का संदेश दिया गया।

मुहम्मदाबाद– नगर के गढ़वा, जफरपुरा, लोका अनुसूचित बस्ती तक शोभा यात्रा निकाली गई। तहसील मुख्यालय हाटा रोड, केशरी मोड़, बिट्ठल चौराहा, फाटक, फल मंडी, इलाहाबाद बैंक रोड, यूसुफपुर बाजार होते अपने-अपने मुहल्लों में जाकर यात्रा समाप्त हुई। संत रविदास की झांकी वाहनों पर सजाया गया था। बैंड बाजों की धुनों पर नाचते-गाते व जयकारा लगाते हुए युवक चल रहे थे। दूसरा जुलूस सलेमपुर मोड़, दाउदपुर व बालापुर से निकाला गया।

लौवाडीह- क्षेत्र के लौवाडीह, जोगा मुसाहिब, पारो, बेलसड़ी, मलिकपुरा आदि गांवों में अनुसूचित बस्ती के लोगों ने रविदास जयंती पर जगह-जगह झांकी सजाकर पूजन अर्चन किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए।

भांवरकोल- क्षेत्र के वीरपुर, शेरपुर, लोचाइन, मच्छटी, सोनाड़ी, मिजरबाद, खरडीहा आदि गांवों में संत शिरोमणि रविदास की जयंती मनाई गई।

शादियाबाद- कस्बा दयालपुर, मोबारकपुर कुदुरतुल्ला, खतीबपुर, मुस्तफाबाद, सरायसदकर, जबरापार, परेवां, हुसेनपुर, बसेंवा, चोबहां में झांकी निकाली गई। थाना चौराहा पर सभा में संत शिरोमणि रविदास के जीवन पर प्रकाश डाला गया।

 सादात- नगर के अलावा मजुई, डोरा, सरदरपुर, शिकार सवास, ससना आदि जगहों की आकर्षक झांकी निकाली गई।

मलसा– डुहिया, ढढ़नी, मेदनीपुर, मलसा, चक मेदनी नंबर एक, देवरिया, गरुआ मकसूदपुर संत रविदास की जयंती मनाई गई।

देवकली– पियरी बाजार में सुरेंद्र प्रसाद व पूर्व विधायक अमेरिका प्रधान के नेतृत्व मे जलूस यात्रा निकाली गई। कार्यक्रम के व्यवस्थापक सुरेंद्र प्रसाद ने कहा कि संत रविदास के बताए रास्ते चलने से ही समाज का कल्याण होगा।

 सैदपुर– नगर समेत रस्तीपुर गांव में प्रतिमा स्थापित कर पूजन-अर्चन किया। खानपुर: क्षेत्र के खानपुर, बहुरा, बभनौली, अलीमापुर आदि जगहों पर संत रविदास की जयंती मनाई गई।

जखनियां-  संत रविदास की जयंती शाहापुर, भुड़कुड़ा, जखनियां, गौराखास, राम¨सहपुर आदि गांवों में प्रभातफेरी निकाली गई।

अरबी-फारसी की परीक्षा पांच मार्च को

अरबी-फारसी बोर्ड की होने वाली परीक्षा अब पांच मार्च को होगी। बाकी परीक्षाओं के दिन यथावत रहेंगे। इस आशय का पत्र रजिस्ट्रार कार्यालय से देर रात आया। बोर्ड के इस निर्णय से काफी परीक्षार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। कई परीक्षार्थियों को परीेक्षा केंद्र पर आने के बाद इसकी जानकारी हो सकी।

संत रविदास जयंती के दिन पहली पाली में मुंशी, मौलवी एवं दूसरी पाली में आलिम, फाजिल एवं कामिल की परीक्षा होनी थी। अवकाश की जानकारी नहीं होने के चलते सुबह एवं दोपहर दोनों पालियों में परीक्षार्थियों को वापस होना पड़ा। वहीं इस प्रश्न पत्र का इम्तिहान पांच मार्च को टलने के कारण दूर-दराज जाने वाले विद्यार्थियों को अपने आरक्षण रद कराने होंगे। रजिस्ट्रार कार्यालय की इस गलती का खामियाजा परीक्षार्थियों को भुगतना पड़ रहा है। देर रात हुई जानकारी

मदरसा दारुल उलूम कादरिया के प्रभारी प्रधानाचार्य मौलाना फरीद अख्तर कादरी ने बताया कि परीक्षा टलने की जानकारी उनको देर रात हुई। इसके चलते वे इसकी जानकारी परीक्षार्थियों की किसी तरह से नहीं दे सके। परीक्षा की नई तिथि घोषित

अल्प संख्यक कल्याण अधिकारी जहीर अब्बास कि पहले से अवकाश की सूचना नहीं होने से इस दिन परीक्षा होनी थी लेकिन अचानक शासन से अवकाश की सूचना आने पर परीक्षा को स्थगित करना पड़ा। रजिस्ट्रार कार्यालय से इसकी तिथि पांच मार्च घोषित की गई है।

यह भी पढ़ें- सराफा की दुकान से हजारों चोरी

यह भी पढ़ें- पुलवामा शहीदों के परिवारीजनों की सहायता को आगे आए सरकारी कर्मचारी

संबंधित ख़बरें...