मनोज सिन्हा- नेकी कर दरिया में ड़ाल…

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर । रेलराज्य मंत्री ने मंगलवार को गाजीपुर सहित अन्य जनपदों को फिर तोहफों का पिटारा खोल दिया। खास यह रहा कि अपने उद्धबोधन में उन्होनें अपने कार्यों के प्रति न तो वोट मांगा और ना ही जनपद वासियों के उपर अहसान जताया। अपने भाषण में उन्होनें मार्कण्डे सिंह व गिरजा शंकर पाडेय के माध्यम से उपस्थीत जनसमूह से खुद को जोडने का प्रयास किया। बोले कि मार्कण्डे सिंह जैसे कई लोगों का आग्रह था कि बुजुर्ग, महिलाएं व बच्चों को उपरगामी रेलपुल से आने जाने में परेशानी होती है।

एस्किलेटर से भी उन्हें अन्य प्लेटफार्मो पर जाने में दिक्क्त होती है। लिहाजा अगर सिटी स्टेशन पर लिफ्टकी व्यवस्था हो जाए तो काफी बेहतर रहेगा। साथ ही गिरजा शंकर पाण्डे का सुझाव था कि सुबह प्लेट फार्म नं एक पर काफी लोग टहलने के लिए आते हैं। स्टेशन के दुसरी छोर पर रहने वाले लोगों को प्लेट फार्म नं एक पर आना पड़ता है। अगर प्लेट फार्म संख्या दो और तीन की सतह भी दुरुस्त कर दिया जाए तो उस पार के लोगों को काफी राहत मिलेगी।श्री सिन्हा ने कहा कि यहां से चलने वाली ट्रेनों में बेडशीट, तकिया और स्वच्छ जल उपलब्ध नहीं होता है। जन भावनाओं को देखते हुए उसका शिलान्यास कर दिया गया है। आरपीएफ के जवानोंके रहने के लिए बैरक का भी निर्माण किया जा रहा है। उनकी एक-एक घोषणाओं पर उपस्थीत जन समूह मनोज सिन्हा- नरेंद्र मोदी जिन्दाबाद के नारे लगते रहे। श्री सिन्हा ने वाराणसी सिटी से दरभंगा तक चलने वाली साप्ताहिक एक्सप्रेस को जैसे ही हरी झंडी दिखाई वैसे ही पुन: सिन्हा का जय-जयकारा होने लगा। यही नहीं सिटी स्टेशनपर निर्भया फंड़ के अंतर्गत सी.सी.टी.वी सर्विलांस प्रणाली,कोचों पानी भरने हेतु 650 मीटर लम्बी हाईड्रेंट प्रणाली व कोच गाईडेंस प्रणाली के अलावा मऊ जं. पर कोचिंग

टर्मिनल को भी जनता को समर्पित किया। इस दौरान वे अपने द्वारा जनपद के विकास के लिए किए गए पिछ्ले कार्यों का  कोई जिक्र नहीं किया। उनके आत्म विश्वास से साफ जाहीर हो रहा था कि अपने कार्यकाल के दौरान गाजीपुर के विकास में उन्होनें कोई कोर कसर नहीं छोड़ा है। एक तरह से देखा जाए तो अपने पांच मिनट के संम्बोधन में उन्होनें जनपद वासियों के सामने एक मौन प्रश्न रख दिया कि आने वाले लोक सभा चुनाव मे उन्हें कैसा सांसद चुनना है। मंगलवार को उनेके संक्षिप्त तकरीर को लेकर चुनावी गलियारे में काफी चर्चा होती रही। कई विपक्षी पार्टी के लोग भी श्री सिन्हा के किए गए विकास कार्यों पर उंगली नहीं उठा पा रहे थे।

यह भी पढ़ें- प्रेमी-युगलकी थाने मे हुई शादी

यह भी पढ़ें- भदौरा रेलवे स्टेशन पर राईफल से की फायरिंग, गिरफ्तार

संबंधित ख़बरें...