ईलू-ईलू के चकर में एक और युवक की गई जान

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

जंगीपुर | घर से बुलाकर मंगई नदी के किनारे पुल के समीप बदमाशों ने चाकू घोंपकर जंगीपुर थाना क्षेत्र के शेखपुर गांव निवासी युवक अशोक बिद (18) की दुस्साहसिक तरीके से हत्या कर दी। लहूलुहान हाल में परिजन उसे जिला अस्पताल ले जा रहे थे कि रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। परिवार के साथ ही गांव के लोग भी हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर हंगामा शुरू कर दिए। जानकारी पर कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे एसपी सिटी प्रदीप दुबे, सीओ डा. तेजवीर सिंह ने शक के आधार पर गांव के ही श्रवण नामक युवक को हिरासत में ले लिया। विरोध की वजह से पोस्टमार्टम के लिए शव लेने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। प्रथम द्दृष्टिया प्रेम प्रपंच को अशोक की हत्या का वजह मानते हुए पुलिस पड़ताल कर रही है। शेखपुर गांव निवासी अशोक शाम को घर पर मौजूद था। करीब शाम् चार बजे किसी व्यक्ति का फोन आया और वह उससे मिलने मंगई नदी पुल के नीचे चला गया। इसी बीच पहले से घात लगाए बदमाशों ने गर्दन व पीठ पर चाकू से कई प्रहार कर दिए। जब वह अधमरा हो गया तो छोड़कर भाग निकले। घंटे भर बाद आसपास के लोग पुल के नीचे गए तो युवक को लहूलुहान देखकर घरवालों को जानकारी दी। वे मौके पर पहुंचे और उसे लेकर अस्पताल जा रहे थे कि रास्ते में दम तोड़ दिया। उसकी मौत से परिवार में कोहराम मच गया। घर के लोग शव को लेकर गांव पहुंचे और हत्यारों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करने लगे। ग्रामीणों ने बताया कि अशोक तीन भाइयों में सबसे छोटा था। पिता मेहनत मजदूरी करते हैं और वह पढ़ाई के साथ-साथ खेतों में हाथ बंटाता था। बेटे की मौत से मां रेशमी का रो-रोकर बुरा हाल है।

मोबाइल खोलेगा राज – थानाध्यक्ष जंगीपुर जयचंद्र भारती ने बताया कि हत्या किसने की इसका राज न खुले शायद इस इरादे से हत्यारे मोबाइल भी लेते गए। जिस तरीके से वारदात को अंजाम दिया गया उससे साफ है कि हमलावर पूरी तैयारी के साथ आए थे। बहरहाल जहां इस वारदात से परिवार में कोहराम है वहीं गांव में तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। मामले की हो रही है जांच अशोक की हत्या क्यों और किसने की है, इसकी जांच की जा रही है। वैसे प्रथम द्दृष्टिया मामला प्रेम-प्रपंच का सामने आ रहा है। शक के आधार पर गांव के ही युवक श्रवण को हिरासत में ले लिया गया है। पूछताछ के बाद ही मामला स्पष्ट हो पाएगा।

पूर्व ब्ला‍क प्रमुख धनंजय सिंह हत्या के मामले में बाइज्जत बरी

की थी योगी पर अभद्र टिप्पणी, अब पहुंचा सलाखों के पीछे

 

 

संबंधित ख़बरें...