मनोज सिन्हा को कम से कम चार लाख वोट के अंतर से हराऊंगा: अफजाल

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। बसपा-सपा गठबंधन के गाजीपुर संसदीय सीट के संभावित उम्‍मीदवार पूर्व सांसद अफजाल अंसारी न सिर्फ अपनी जीत को लेकर आश्‍वस्‍त हैं बल्कि उनका दावा है कि केंद्रीय मंत्री व भाजपा उम्‍मीदवार को वह कम से कम चार लाख वोटों के अंतर से हराएंगे। एक बातचीत में उन्‍होंने कहा कि पिछले चुनाव में श्री सिन्‍हा करीब तीन लाख छह हजार वोट पाए थे जबकि गठबंधन के परंपरागत वोटरों की संख्‍या उससे ढाई गुना अधिक है। उनका कहना था कि गठबंधन को अपने परंपरागत वोट के अलावा अन्‍य पिछड़ों, अति पिछड़ों और दलितों, अति दलितों, अगड़ों के भी वोट मिलेंगे। वैसे मनोज सिन्‍हा को वह 2004 के चुनाव में हरा चुके हैं। एक सवाल पर श्री अंसारी माने कि जहां गठबंधन के जातीय समीकरण के वोटों का पहाड़ है तो मुकाबले में विकास कार्यों का कुतुबमीनार है लेकिन वह कहे कि जनता में मोदी सरकार को लेकर गुस्‍सा है। उसकी वादाखिलाफी, झूठी बयानबाजी से आमजन नाखुश है। वह मौके का इंतजार कर रहे हैं कि मोदी सरकार को सबक सिखाया जाए। उन्‍हें पता है कि मोदी सरकार ने विकास और मुल्‍क की हिफाजत के नाम पर कैसे उनके साथ छल की है। श्री अंसारी का कहना था कि कश्‍मीर के पुलवामा हमले की घटना और उसके बाद के घटनाक्रम की हकीकत से जनता वाकिफ है। उसे यह भी पता है कि उसके नाम पर कैसे भाजपा वोट की राजनीति कर रही है। रही बात प्रगतिशील गाजीपुर के नारे की तो गाजीपुर में बंद पड़ी चीनी मिल और बड़ौरा कताई मिल इसकी सच्‍चाई बयां करती है। गाजीपुर के सुदूर गांवों की सड़कें बदहाल हैं। यहां तक कि भारी वाहनों के गंगा आर-पार करने के लिए पुल की समुचित व्‍यवस्‍था नहीं है। जिला अस्‍पताल सहित अन्‍य सरकारी अस्‍पतालों में चिकित्‍सक, जरूरी दवा तक नहीं है। एक अन्‍य सवाल पर श्री अंसारी ने बताया कि उनका नामांकन की तारीख अभी तय नहीं है। गठबंधन की ओर से उम्‍मीदवारी की औपचारिक घोषणा के बाद ही यह तय होगी।

यह भी पढ़ें- यह जुर्रत! बिजली अभियंता को पीटे

यह भी पढ़ें- खुशखबरी: गंगा पुल चालू

संबंधित ख़बरें...