निरहुआ को नहीं अखिलेश यादव को वोट करेंगे मेरे समर्थक: रमाकांत यादव

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। भोजपुरी फिल्‍मों के अभिनेता से राजनेता बने दिनेश लाल यादव निरहुआ के लिए बुरी खबर है। उन्‍हें आजमगढ़ संसदीय क्षेत्र में पूर्व सांसद रमाकांत यादव का समर्थन नहीं मिलेगा। भाजपा छोड़कर कांग्रेस में गए पूर्व सांसद रमाकांत यादव ने आजमगढ़ में शनिवार को एक खबरिया चैनल से बातचीत में साफ कहा कि आजमगढ़ संसदीय क्षेत्र में उनके समर्थक सपा मुखिया अखिलेश यादव को वोट करेंगे। उन्‍होंने निरहुआ को नचनिया बताया। कहे कि आजमगढ़ की जनता तय करेगी कि नाचने-गाने वाले को जिताना है या अखिलेश यादव को। मालूम हो कि लोकसभा चुनाव में भाजपा का टिकट मिलने के बाद निरहुआ आजमगढ़ पहुंचकर रमाकांत यादव से मिले थे और उन्‍हें शेर-ए-पूर्वांचल बताते हुए ट्विट किया था कि इनके आशीर्वाद व समर्थन से आजमगढ़ में कमल खिलेगा। फिर एक बार मोदी सरकार बनेगी। मतलब निरहुआ को अंदाजा था कि आजमगढ़ में सपा मुखिया अखिलेश यादव को पटकनी देने का काम रमाकांत यादव के सहयोग से ही संभव हो पाएगा, लेकिन अब जबकि रमाकांत यादव भाजपा छोड़कर कांग्रेस में चले गए हैं और माना जा रहा है कि वह भदोही संसदीय सीट से चुनाव लड़ेंगे। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा उन्‍हें आजमगढ़ से लड़ाई थी। तब उनका मुकाबला पूर्व मुख्‍यमंत्री व सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव से हुआ था, लेकिन इस बार भाजपा उन्‍हें टिकट नहीं दी। उनकी जगह आजमगढ़ के लिए निरहुआ को टिकट थमा दी। उसके बाद यह चर्चा थी कि रमाकांत यादव भाजपा के इस फैसले से खफा थे। यहां तक कि भाजपा का टिकट पाने के बाद पहली बार आजमगढ़ पहुंचे निरहुआ की सभा में भी रमाकांत यादव नहीं पहुंचे थे। उसके बाद ही निरहुआ रमाकांत यादव का आशीर्वाद लेने उनके पास पहुंच गए थे। उस मुलाकात की उन्‍होंने तस्‍वीर भी सोशल मीडिया पर शेयर की थी। रमाकांत यादव आजमगढ़ से चार बार सांसद और विधायक रहे हैं।

यह भी पढ़ें- भाजपाई ‘मस्त’, सपाई ‘पस्त’

यह भी पढ़ें- संग बैठ शराब गटके फिर…

संबंधित ख़बरें...