पीजी कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष निकला हेरोइन तस्कर, साथी संग चढ़ा बलिया पुलिस के हत्थे

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। छात्र शब्‍द कान में आते ही अनुशासित, समर्पित, ईमानदार और स्‍वाभिमानी व्‍यक्तित्‍व की छवि सामने आती है, लेकिन गाजीपुर का मामला ठीक उलट है। यहां के दो छात्रों की कारस्‍तानी से गाजीपुर का छात्र समुदाय शर्मिंदा हो गया है। पीजी कॉलेज के दो छात्र हेरोइन की तस्‍करी में लिप्‍त पाए गए हैं। बलिया की रसड़ा पुलिस ने सोमवार की सुबह उन्‍हें सीमावर्ती इलाके सिधागर घाट बैरियर से पकड़ा। उनके कब्‍जे से कुल 850 ग्राम हेरोइन मिली। साथ ही मयकारतूस तमंचा तथा बाईक भी बरामद हुई है। पकड़े गए छात्रों में सम्‍पूर्णानंद यादव पीजी कॉलेज छात्रसंघ का अध्‍यक्ष है व सुहवल थाने के खजुहा गांव का रहने वाला है। उसका साथी मनोज सिंह यादव शहर कोतवाली के भटौली गांव का है। बलिया से मिली खबर के मुताबिक दोनों दो कैरी बैग में हेरोइन लेकर गोरखपुर के लिए निकले थे। पूछताछ में बताए कि वह हेरोइन की यह खेप नेपाल पहुंचाने वाले थे, लेकिन उसके पहले ही वह पुलिस के हाथ लग गए। एसपी बलिया देवेंद्र नाथ ने गाजीपुर आजकल डॉट कॉम को बताया कि यह जांच हो रही है कि दोनों इस काले कारोबार में पहले से लिप्‍त थे या यह उनका पहला प्रयास था। बताए कि यह एक बड़ी उप‍लब्धि है और इस कार्रवाई में शामिल पुलिस टीम को उन्‍होंने अपनी ओर से 25 हजार रूपये नकद देने की घोषणा की है। उधर हेरोइन संग अपने संस्‍थान के दो छात्रों की गिरफ्तारी के सवाल पर पीजी कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. समर बहादुर सिंह ने बताया कि उन्‍हें इस बात की सूचना गाजीपुर पुलिस की स्‍थानीय अभिसूचना इकाई से मिली है। दोनों छात्रों के खिलाफ अनुशासनात्‍मक कार्रवाई के बाबत डॉ. सिंह ने कहा कि इस सिलसिले में लिखित सूचना मिलने के बाद प्राक्‍टोरियल बोर्ड से जांच कराई जाएगी। फिर उसकी रिपोर्ट पर आगे की कार्रवाई होगी। एक सवाल पर उन्‍होंने कहा कि छात्रसंघ का कार्यकाल सालाना परीक्षा से पहले तक का होता है। मौजूदा वक्‍त में परीक्षा चल रही है। इस दशा में छात्रसंघ अध्‍यक्ष के खिलाफ कार्रवाई का कोई औचित्‍य नहीं रह जाता।

यह भी पढ़ें- अफजाल के नामांकन की तारिख तय

यह भी पढ़ें- योगीजी! यह मंत्री नाखुश क्यों

संबंधित ख़बरें...