नीरज की बेदखली के बाद पुलकित थे उनके रोम-रोम

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। इस फोटो को गौर से देखें। जी हां! इन नेताओं को आप जरूर पहचानते हैं, लेकिन फोटो में दोनों नेताओं की देहभाषा (बॉडी लैंग्‍वेज) पर निगाह डालें। आपको अंदाजा यही मिलेगा कि दोनों नेताओं की यह खुशी किसी मिशन के पूरा होने की है। आइये हम बताते हैं। यह फोटो तब की है जब बलिया संसदीय सीट के लिए सपा में राज्‍यसभा सदस्‍य नीरज शेखर का टिकट कटा और उनकी जगह टिकट पाए पार्टी के पूर्व विधायक सनातन पांडेय पहुंच गए अंबिका चौधरी के पास आशीर्वाद लेने। अंबिका चौधरी वही हैं जो कभी सपा में असरदार नेता की हैसियत रखते थे। कई बार सपा की सरकार में वह मंत्री भी रहे। यहां तक कि सपा मुखिया अखिलेश यादव जब मुख्‍यमंत्री बने थे तब अंबिका चौधरी उनके साथ साये की तरह दिखते रहे, लेकिन 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले न जाने क्‍या हुआ कि अखिलेश यादव की नजर में अंबिका चौधरी चढ़ गए और न सिर्फ उन्‍हें मंत्री पद गंवाना पड़ा बल्कि विधानसभा चुनाव के टिकट के लिए सपा छोड़कर बसपा में जाना पड़ा। इनके निकटवर्तियों की मानी जाए तो अंबिका चौधरी और नीरज शेखर के बीच शीत युद्ध शुरू से रहा है। कारण अंबिका चौधरी की पहले से ही ख्‍वाहिश रही है कि वह बलिया संसदीय सीट से चुनाव लड़ें, लेकिन सपा में रहते इनकी इस ख्‍वाहिश की पूर्ति में नीरज शेखर बड़े रोड़ा थे। बसपा में आने और विधानसभा चुनाव हारने के बाद अंबिका चौधरी अपनी पुरानी ख्‍वाहिश पूरी करने की जुगत में लग गए थे, लेकिन बसपा का सपा से गठबंधन और गठबंधन के तहत बलिया सीट सपा के खाते में जाने से अंबिका चौधरी मायूस हो गए। कहा जा रहा है कि जब नीरज शेखर का टिकट कटा तो उनकी वह मायूसी अब खुशी में बदल चुकी है। हालांकि बलिया संसदीय सीट के लिए सपा उम्‍मीदवार के रूप में नामांकन के अंतिम दिन सनातन पांडेय ने पर्चा भरा तो उनके साथ नीरज शेखर और उनके परिवार के ही सदस्‍य तथा सपा एमएलसी रविशंकर सिंह पप्‍पू नहीं थे। सनातन पांडेय ने चार सेट में पर्चा भरा। उनके प्रस्‍तावकों में पूर्व विधायक जयप्रकाश अंचल, चितबड़ागांव नगर पंचायत चेयरमैन केशरी नंदन त्रिपाठी, बलिया के सपा जिलाध्‍यक्ष संग्राम यादव तथा बसपा के वरिष्‍ठ नेता विनायक मौर्य रहे। इस मौके पर नामांकन कक्ष में सनातन पांडेय के साथ जाने का मौका अंबिका चौधरी नहीं छोड़े। बल्कि वह श्री पांडेय के लिए मार्गदर्शक की भूमिका में नजर आए। मालूम हो कि बलिया संसदीय सीट के दायरे में गाजीपुर के दो विधानसभा क्षेत्र मुहम्‍मदाबाद और जहूराबाद भी आते हैं।

…और अंसारी बंधु भी इधर

गाजीपुर। बलिया संसदीय सीट के लिए सोमवार को सपा उम्‍मीदवार सनातन पांडेय के नामांकन पर मुहम्‍मदाबाद के पूर्व बसपा विधायक सिबगतुल्‍लाह अंसारी जरूर मौजूद थे। वैसे इनकी यह मौजूदगी गठबंधन धर्म के लिहाज से चौंकाने वाली नहीं है, लेकिन बलिया संसदीय क्षेत्र के लोग यह जानते हैं कि अंसारी बंधुओं का अंबिका चौधरी से कितना गहरा लगाव है। अंसारी बंधुओं के हर मौके पर अंबिका चौधरी पहुंचते हैं।

यह भी पढ़ें- …तब भाजपा के लिए हालात माकूल!

यह भी पढ़ें- …तब सपा का कब उठेगा पर्दा

संबंधित ख़बरें...