मोदी के लिए सफल सहयोगी मंत्रियों में एक हैं मनोज सिन्हा: राजनाथ सिंह

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। ‘प्रधानमंत्रीजी से जब भी अतरंग चर्चा होती है तो उनके जेहन में अपने मंत्रिपरिषद के तीन-चार मंत्रियों का जो नाम रहता है। उसमें मनोज सिन्हा का नाम भी रहता है’। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यह रहस्‍योद्घाटन किया। गुरुवार की दोपहर राजनाथ सिंह गाजीपुर संसदीय सीट के भाजपा उम्‍मीदवार व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्‍हा के चुनाव अभियान में शामिल होने आए थे। सैदपुर के टाउन नेशनल इंटर कॉलेज मैदान में उन्‍होंने चुनावी सभा की। उनका कहना था कि मनोज सिन्‍हा ने गाजीपुर के विकास के लिए ऐतिहासिक काम किया है। इस क्रम में राजनाथ सिंह ने मनोज सिन्‍हा की शालिनता और मृदु स्‍वभाव का बखान करते हुए कहा कि इनका यह स्‍वभाव अद्भुत है। अपने से छोटों का भी वह आदर-सम्‍मान करते हैं। अपनी मर्यादाओं को वह कभी नहीं लांघते हैं। मर्यादाओं का जो पालन करता है वह पूजा जाता है। जनसमूह से राजनाथ सिंह ने कहा कि आप लोग पारखी हैं। आपने मन बना लिया है कि जब तक मनोज सिन्हा रहेंगे, लोकसभा में वह उनका प्रतिनिधित्व करेंगे। मौजूद जनसमूह को श्री सिन्‍हा के समर्थन के लिए प्रेरित करते हुए राजनाथ सिंह देसज भाषा में बोले- ए बार अइसन वोट ठोक दा कि रिकॉर्ड तोड़ दा। उनका कहना था कि सारी दुनिया में भारत के बारे में धारणा बदल गई है। हर सरकार का अपना काम करने  की शैली होती है। हमारी सरकार गरीबों के लिए एक करोड़ 30 लाख आवास बनाई। कुल 13 करोड़ गरीबों को ईंधन गैस के कनेक्शन बंटे। तपती दोपहरी के बावजूद लोग राजनाथ सिंह को पूरे सब्र से सुने। अपने 26 मिनट के भाषण में उन्होंने सपा-बसपा का नाम मात्र एक बार लिया और कांग्रेस पर लगातार जुबानी तीर दागते रहे। उन्होंने राष्ट्रवाद के मुद्दे पर मतदाताओं को भाजपा के पक्ष में करने का पूरा प्रयास किया। कहा कि कांग्रेस के नौजवान अध्यक्ष ने कहा है कि वह सत्ता में आएंगे तो राष्ट्रद्रोह का कानून समाप्त कर देंगे। राजनाथ सिंह ने जनसमूह की ओर सवाल दागते हुए कहा कि भारत को कमजोर करने व तोड़ने की कोशिश करने वाले को क्‍या वह माफ करेंगे। जनसमूह ने भी तेज आवाज में जवाब दिया, नहीं। गृहमंत्री ने कहा कि इस बार हमारी सरकार बनेगी तो हम देखेंगे कि राष्ट्रदोह के कानून में कहीं पर कोई कमजोरी है तो उसे दूर कर इतना सख्त बनाया जाएगा कि राष्ट्रद्रोह करने वाले को कानून का नाम याद आते ही उसका कलेजा कांप जाएगा। गृहमंत्री ने कहा कि हमारे वायु सेना के जवान शौर्य व पराक्रम का परिचय दे रहे हैं और उस पर कांग्रेस व सपा-बसपा के लोग सवाल खड़ा कर रहे हैं। जबकि उनके सवालों का जवाब आज ही इंटरनेशनल मीडिया में आ गया है कि पाकिस्‍तान में हुए एयरस्‍ट्राइक में कितने आतंकी मरे थे। फिर वह बोले- विरोधी सवाल पूछते हैं कि मोदी जी की जयकारा क्यों हो रही है। शायद उन्‍हें पता नहीं कि सन् 1971 में पाकिस्तान को तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने दो टुकड़ों में बांट दिया था। तब भाजपा ने कोई सवाल नहीं उठाया था, बल्कि अटल बिहारी वाजपेयी ने इंदिरा गांधी को हृदय से सराहा था और अब नरेंद्र मोदी ने पाकिस्‍तान को कड़ा जवाब दिया है तब विरोधी सवाल खड़े कर रहे हैं। यह राष्‍ट्रीय सुरक्षा के सवाल पर उनकी राजनीति नहीं तो और क्‍या है। इस मौके पर मनोज सिन्‍हा ने मौजूद जनसमूह से आशीर्वाद व समर्थन मांगते हुए कहा  कि उन्‍होंने पिछले पांच वर्षों में गाजीपुर को अच्छे पड़ाव पर पहुंचाने की कोशिश की है। गाजीपुर को एक विशेष पहचान मिले इसके लिए जितना संभव हुआ उन्‍होंने किया। बताए कि चुनाव की घोषणा के बाद अब तक वह 400 से ज्यादा सभाएं कर वह लोगों से मिल चुके हैं और अपनी बात उनके सामने रख चुके हैं। इस मौके पर एमएलसी डॉ. केदारनाथ सिंह व विशाल सिंह चंचल,  विधायक डॉ. संगीता बलवंत तथा सुनीता सिंह के अलावा भाजपा के प्रदेश मंत्री रामतेज पांडेय, कौशलेंद्र सिंह, किसान मोर्चा के प्रदेश मंत्री डॉ. विजय यादव, डॉ. मुकेश सिंह, बृजेंद्र राय, रामनरेश कुशवाहा, हरिनाथ सोनकर, सुनील सिंह, संतोष यादव, सरोज कुशवाहा, मुराहु राजभर आदि मौजूद थे। अध्यक्षता भानुप्रताप सिंह व संचालन प्रभुनाथ चौहान ने किया।

यह भी पढ़ें- वाकई! भाजपा के लिए सकते वाली खबर

यह भी पढ़ें- नरेंद्र मोदी का बना कार्यक्रम

संबंधित ख़बरें...