भाजपा को उम्मीद तो गठबंधन को पक्का भरोसा

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। लोकसभा चुनाव के लिए मतदान खत्‍म होने के दूसरे दिन सोमवार को गाजीपुर संसदीय सीट के नतीजे को लेकर जोड़-घटाव का सिलसिला जारी रहा। यह बात साफ हो गई है कि मुख्‍य मुकाबला भाजपा और सपा-बसपा गठबंधन के बीच ही है। जहां भाजपा अपनी जीत को लेकर उम्‍मीद में है, वहीं गठबंधन को पक्‍का यकीन है कि उसकी जीत खासे वोट के अंतर से होगी। करीब एक महीने तक चले धुआंधार प्रचार अभियान के बाद इनके उम्‍मीदवार भी सुकून में दिखे। गठबंधन के उम्‍मीदवार अफजाल अंसारी यूसुफपुर स्थित अपने पैतृक आवास ‘फाटक’ पर मौजूद थे। सुबह वह अपने समय से उठे और खुद से मिलने आए समर्थकों, कार्यकर्ताओं के लिए भरपूर वक्‍त दिए। अलग-अलग इलाके से पहुंचे समर्थक, कार्यकर्ता उन्‍हें मतदान की रिपोर्ट देते रहे। यह सिलसिला दोपहर तक चलता रहा। उस वक्‍त श्री अंसारी के चेहरे पर भी अपनी जीत को लेकर पूरा आत्‍मविश्‍वास झलक रहा था। रिपोर्ट के आधार पर आकलन यही लगाया गया कि श्री अंसारी सैदपुर, जखनियां, जंगीपुर तथा जमानियां विधानसभा क्षेत्र में भाजपा को ठीक से लीड देंगे। सदर विधानसभा क्षेत्र में भी भाजपा को वह कड़ी चुनौती पेश करेंगे। शाम को श्री अंसारी जिला मुख्‍यालय के लिए निकले। उधर भाजपा उम्‍मीदवार मनोज सिन्‍हा भी गाजीपुर शहर स्थित सिकंदरपुर में अपने आवास पर रात्रि विश्राम के बाद सुबह आठ बजे ऊपर के तल से नीचे हॉल में आए और विभिन्‍न इलाकों से आए समर्थकों, कार्यकर्ताओं से मिले। उनके चेहरे पर भी चमक थी। आत्‍मविश्‍वास साफ झलक रहा था। समर्थक, कार्यकर्ताओं से मतदान का फीडबैक वह लेते रहे। फिर निष्‍कर्ष यही निकाला गया कि उन्‍हें हर जगह हर वर्ग का समर्थन मिला है और जीत की पूरी गुंजाइश बन गई है। उसके बाद श्री सिन्‍हा गंगा पार रेवतीपुर पहुंचे। जहां अपनी पार्टी के जिला महामंत्री ओमप्रकाश राय की माताश्री के निधन पर शोक संवेदना जताए। फिर वह अपने पैतृक गांव मुहम्‍मदाबाद क्षेत्र स्थित मोहनपुरा गए। वहां अपने कुलदेवता का दर्शन-पूजन किए।

यह भी पढ़ें- काटू सिंह बनाम देवराज सिंह ठाकुर

यह भी पढ़ें- वाकई! गठबंधन का दावा फेल

संबंधित ख़बरें...