गठबंधन उम्मीदवारों को ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका, धरने पर बैठे अफजाल अंसारी

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। सपा-बसपा गठबंधन उम्‍मीदवारों को आशंका है कि भाजपा अपनी जीत के लिए सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर सकती है। गठबंधन को आशंका है कि स्‍ट्रांग रूम में रखी ईवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ संभव है। इस सिलसिले में गाजीपुर संसदीय सीट के गठबंधन उम्‍मीदवार अफजाल अंसारी सोमवार की देर शाम डीएम के बालाजी से फोन पर चर्चा की। उनका कहना था कि मतगणना स्‍थल जंगीपुर के स्‍ट्रांग रूम में रखी ईवीएम की निगरानी के लिए विधानसभा क्षेत्रवार उनके कार्यकर्ताओं की मौजूदगी की इजाजत दी जाए। डीएम ने उनके इस बात को मानने से इन्कार कर दिया। उन्‍होंने एसडीएम सदर को आदेश दिया कि अफजाल अंसारी के आग्रह पर आठ घंटे की शिफ्ट के हिसाब से मात्र तीन लोगों को स्‍ट्रांग रूम की निगरानी के लिए इजाजत दी जाए। उसी क्रम में अफजाल अंसारी एसडीएम सदर से मिले, लेकिन वह डीएम की इस व्‍यवस्‍था से संतुष्‍ट नहीं हुए। वह कड़ी आपत्ति जताते हुए एसडीएम कार्यालय से निकल गए और सीधे जंगीपुर कृषि मंडी समिति पहुंचकर उसके मुख्‍य गेट के सामने धरने पर बैठ गए। उसके बाद उनके समर्थकों ने सोशल मीडिया के जरिये गठबंधन के नेताओं, कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वह अफजाल अंसारी के लिए जंगीपुर कृषि मंडी पहुंचे। फिर तो गठबंधन के लोग मौके पर एकत्र होने लगे। रात साढ़े आठ बजे समाचार लिखे जाने तक अफजाल अंसारी धरने पर बैठे थे। यह सूचना मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए थे। उधर एसडीएम सदर सत्‍यप्रिय सिंह का कहना था कि गठबंधन उम्‍मीदवार की ओर से विधानसभा क्षेत्रवार आठ घंटे की शिफ्ट में कुल अपने 15 कार्यकर्ताओं को स्‍ट्रांग रूमों की निगरानी के लिए इजाजत की मांग अव्‍यवहारिक है। वैसे भी स्‍ट्रांग रूमों की निगरानी के लिए अर्द्धसैनिक बल के जवानों का 24 घंटे का पहरा लगाया गया है। इनके अलावा अन्‍य लोगों की वहां मौजूदगी से अव्‍यवस्‍था की स्थिति बनेगी। बलिया संसदीय सीट के गठबंधन उम्‍मीदवार सनातन पांडेय के आग्रह पर स्‍ट्रांग रूम की निगरानी के लिए आठ घंटे की शिफ्ट के हिसाब से एक व्‍यक्ति को इजाजत दी गई है।

यह भी पढ़ें- ओह! पति ऐसा जल्लाद

यह भी पढ़ें- भाजपा को उम्मीद, गठबंधन आश्वस्त

संबंधित ख़बरें...