चहारन चट्टी पर शराब की दुकान का कड़ा विरोध, सड़क पर उतरीं महिलाएं

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। शराब के खिलाफ गाजीपुर की महिलाएं भी जागरूक हो रही हैं। करंडा थाने के अंतर्गत चहारन चट्टी (ग्राम पंचायत खिदिरपुर) पर देशी शराब की सरकारी दुकान खुलने से आसपास के गांवों की महिलाओं में है। इनका यह गुस्सा शनिवार को एकदम से फूट पड़ा। लामबंद होकर वह अपने परिवार के पुरुषों संग सड़क पर उतर पड़ीं। रास्ता जाम कर दीं। सड़क के दोनो ओर वहनों का आवगमन पूरी तरह रुक गया। महिलाओं का कहना था कि शराब की इस दुकान से उनके घरों की बहू-बेटियों को खरीदारी के लिए चट्टी पर आना मुश्कील हो गया है। पियक्कड़ों की हरकतों से वह खुद को असुरक्षित महसूस करने लगी हैं। सरकार एक तरफ बहू-बेटियों की सुरक्षा मुहैया कराने का दावा करती है। दूसरी ओर चट्टी के बीच इस तरह शराब की दुकान खोल कर उनकी अस्मिता को खतरे में डाल रही है।

बाद में मौके पर पहुंच कर करंडा पुलिस महिलाओं को किसी तरह समझाई। रास्ता जाम खत्म कराई। रास्ता जाम करने वाली महिलाओं में लीलावती पाल, गुलजारी प्रजापति, संजू देवी, ममता देवी, निर्मला, सेचनी, सुशीला, चंदा आदि के अलावा अमित चौरसिया, रामविलास चौरसिया, गुरुदेव सेठ, सरवन सक्सेना, अजय यादव, बासुदेव राम, पिंटू राम, प्यारेलाल, रमेश राम, सुरेश राम, संजय पाल, रामचंद्र राम, उदयभान, भानु चौरसिया, राजकुमार राम, रविंद्र राम, सोचन गुप्त, संजय गुप्त, जितेंद्र राय, सोनू राम, सुमित वर्मा, गुड्डू चौरसिया, रामजी चौरसिया आदि थे।

उधर जिला आबकारी अधिकारी वीर अभिमन्यु सिंह से इस बाबत गाजीपुर आजकल डॉट कॉम ने चर्चा की। उन्होंने कहा-अव्वल तो चहारन चट्टी पर इसी वित्तीय साल की शुरुआत में ही वह दुकान स्वीकृत हो गई थी, लेकिन अब यह ब्यवस्थित हुई है। बावजूद विरोध में उठी महिलाओं की आवाज का क्या होगा। जिला आबकारी अधिकारी का जवाब था-नहीं पता। हां विभाग को अपने राजस्व की जरूर फिक्र रहेगी।

संबंधित ख़बरें...