एक ग्राम विकास अधिकारी बर्खास्त, अन्य दो निलंबित

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। फर्जीवाड़ा कर नवनियुक्त ग्राम विकास अधिकारी को बर्खास्त कर दिया गया है जबकि सरकार की प्राथमिकता वाली योजनाओं में घोर लापरवाही के आरोप में तत्काल प्रभाव से दो ग्राम विकास अधिकारी निलंबित कर दिए गए हैं।

डीडीओ मिश्रीलाल ने बताया कि मनिहारी ब्लाक में पिछले साल अक्टूबर में नवनियुक्त ग्राम विकास अधिकारी संतोष कुमार ने अपने शपथ पत्र में बताया था कि उसके खिलाफ कोई आपराधिक मामला लंबित नहीं है, लेकिन पुलिस के सत्यापन रिपोर्ट में उसके खिलाफ दुल्लहपुर थाने में कुल आठ धाराओं में अभियोग पंजीकृत बताए गए। यह मामले कोर्ट में विचाराधीन हैं। तब उस ग्राम विकास अधिकारी से जवाब तलब किया गया। जवाब में उसकी ओर से दिए गए शपथ पत्र के बाद यह साफ हो गया कि संतोष कुमार ने तथ्य छिपाए। लिहाजा उसे बर्खास्त कर दिया गया।

उधर मनिहारी ब्लाक के ही एक अन्य ग्राम विकास अधिकारी सुधीर प्रताप सिंह और भांवरकोल ब्लाक के ग्राम विकास अधिकारी ओमप्रकाश को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना, मनरेगा तथा शौचालय योजना में लापरवाही करने के आरोप में यह कार्रवाई हुई है।

यह भी पढ़ें–योगीजी! आपके राज में जेल कि ऐशगाह

संबंधित ख़बरें...