जेल प्रकरणः डीएम ने शासन को भेजी रिपोर्ट, जेल कर्मियों पर कार्रवाई तय

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। जिला जेल में कैदियों का खुलेआम मोबाइल फोन का इस्तेमाल और दावतें उड़ाने के मामले में दोषी जेल कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई लगभग तय है। मालूम हो कि इस आशय के एक साथ अलग-अलग दो वीडियो वायरल होने के बाद डीएम के बालाजी ने इसे गंभीरता से लिया था। उन्होंने इसकी जांच की जिम्मेदारी अपर एसडीएम सूरज यादव को सौंपी थी।

उसके बाद अपर एसडीएम बीते मंगलवार को जिला जेल पहुंच कर बकायदा जांच कर अपनी रिपोर्ट डीएम को सौंप दिए थे। जांच में क्या मिला। इस सवाल पर डीएम ने कहा कि उन्होंने अग्रिम कार्रवाई के लिए जांच रिपोर्ट शासन को भेज दी है। शासन की कार्रवाई से पहले इस बाबत कुछ भी कहना उचित नहीं होगा। उधर पूरा मामला मीडिया में आने के बाद जेल महकमा में भी हड़कंप मच गया है। डीआईजी जेल विंध्याचल यादन ने जेल अधीक्षक को फोन कर पूरे प्रकरण की जानकारी ली है।

जेल अधीक्षक राजेंद्र कुमार ने बताया कि डीआईजी जेल विभागीय व्यस्तता के चलते शुक्रवार को नहीं आ सके। उम्मीद है कि वह आठ जून को आएंगे। वह भी जांच करेंगे। जानकारों का कहना है कि इस मामले में कुछ बंदी रक्षकों के खिलाफ कार्रवाई के साथ विभाग खानापूर्ति कर अपना फर्ज पूरा मान लेगा, जबकि वायरल वीडियो से साफ है कि जिस अंदाज में कैदी फोन पर बात कर रहे हैं और जिस ठाठ से दावत का मजा ले रहे हैं, वह जेल अधिकारियों की बगैर सहमति संभव नहीं है। बताते हैं कि अपर एसडीएम की जांच रिपोर्ट में इसकी पुष्टि भी हुई है।

यह भी पढ़ें–बेचारे! किस मुंह से दें जवाब   

संबंधित ख़बरें...