डीडीओ के खिलाफ कर्मचारियों ने खोला मोर्चा, बेमियादी आंदोलन की चेतावनी

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। डीडीओ मिश्रीलाल को उनकी बदजुबानी महंगी पड़ गई है। कर्मचारियों ने उनके खिलाफ सीधा मोर्चा खोल दिया है। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद (दुर्गेश गुट) के बैनर तले कर्मचारियों ने शनिवार की सुबह सरजू पांडेय पार्क में धरना-प्रदर्शन किया। अंत में प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री को संबोधित मांग पत्र एसडीएम सदर सत्यप्रिय सिंह को सौंप कर डीडीओ को तत्काल प्रभाव से हटा कर उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

बाद में कर्मचारी नेता विवेक सिंह शम्मी ने कहा कि डीडीओ के हटने तक वह चुप नहीं बैठेंगे। बताए कि दस जून को विकास भवन में संगठन की बैठक होगी। उसमें आंदोलन की आगे की रणनीति तय होगी। श्री सिंह बताए कि डीडीओ मिश्रीलाल बीटीसी की चल रही परीक्षा में ड्यूटी कर रही महिला शिक्षकों को शुक्रवार की शाम सीधे शहर कोतवाली बुलाए और कतिपय परीक्षा केंद्रों के व्यवस्थापकों के खिलाफ नकल के आरोप में एफआईआर दर्ज कराने का बेजा दबाव बनाने लगे। उनके मना करने के बावजूद उन्हें नाहक शहर कोतवाली में रोके रखे। महिला शिक्षकों की गुहार पर शम्मी सिंह अपने साथी कर्मचारी नेताओं संग शहर कोतवाली पहुंचे। उसी बीच कर्मचारी नेताओं पर डीडीओ एकदम से उखड़ गए। यहां तक कि वह खुद पुलिस कर्मियों को आदेश देने लगे कि कर्मचारी नेताओं को शहर कोतवाली से बाहर किया जाए।

शम्मी सिंह ने कहा कि डीडीओ के इस अमर्यादित व्यवहार से कर्मचारी नेता खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं और अपने इस अपमान की पूर्ति वह डीडीओ के हटने पर ही मानेंगे। धरना-प्रदर्शन की अगुवाई शम्मी सिंह के अलावा परिषद के जिलाध्यक्ष दुर्गेश श्रीवास्तव भी कर रहे थे।

यह भी पढ़ें–बहुत खूब! मोबाइल से हो रही थी नकल कि…

संबंधित ख़बरें...