पप्पू यादव हत्याकांडः दूसरे वांछित का सरेंडर

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। करंडा क्षेत्र के सलारपुर(गोशंदेपुर) के बहुचर्चित जिला पंचायत सदस्य हत्याकांड में वांछित विनय सिंह उर्फ विक्की भी सोमवार को सीजेएम कोर्ट में सरेंडर कर दिया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। वह करंडा थाने के सिंकदरपुर ग्राम पंचायत के डिहवा गांव का रहने वाला बताया गया है। पुलिस के अनुसार विक्की शुरू से मनबढ़ है।

मालूम हो कि इसके पूर्व बीते तीन जून को इस मामले में वांछित सुंदरम उर्फ धनजी सिंह कोर्ट में सरेंडर किया था। जिला पंचायत सदस्य विजय यादव पप्पू की हत्या उनके दरवाजे पर बीते 24 मई की रात करीब दस बजे हुई थी। गमछों से मुंह बांधे बाइक सवार तीन बदमाश मौके पर पहुंचे थे और पप्पू यादव पर गोली दागकर चलते बने थे।

इस मामले में तीन अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी लेकिन पुलिस विवेचना में गोशंदेपुर गांव के धनजी सिंह तथा डिहवा के विक्की सिंह के अलावा गोशंदेपुर के ही एक अन्य युवक का नाम प्रकाश में आया था। उसके बाद पुलिस उनकी तलाश शुरू की। पुलिस मान रही है कि धनजी सिंह और विक्की का कोर्ट में सरेंडर उसके दबाव का नतीजा है। अब तीसरे चिन्हित अभियुक्त की गिरफ्तारी की कोशिश तेज कर दी गई है। अपनी पार्टी के जिला पंचायत सदस्य पप्पू यादव की हत्या का मामला सपा नेताओं ने जोर-शोर से उठाया। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पुछार करने खुद पप्पू यादव के घऱ पहुंचे थे और इसके लिए प्रदेश की योगी सरकार को भरहिक कोसे थे।

यह भी पढ़ें–…पर अफजाल की इस कवायद का मतलब!

संबंधित ख़बरें...