डीडीओ के खिलाफ कर्मचारियों का एक हफ्ते का अल्टीमेटम

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। डीडीओ के खिलाफ आंदोलित शिक्षक-कर्मचारी अब आर-पार की लड़ाई की तैयारी में हैं। मंगलवार को राज्य कर्मी और शिक्षक विकास भवन से पैदल मार्च करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। डीएम के बालाजी की नामौजूदगी में उनके प्रतिनिधि को पत्रक सौंप कर चेतावनी दी कि अगर एक सप्ताह के अंदर डीडीओ के खिलाफ कार्रवाई कर अवगत नहीं कराया गया तो वह आंदोलन को बाध्य होंगे।

राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद(दुर्गेश गुट) के जिलाध्यक्ष दुर्गेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि कर्मचारी-अधिकारी एक-दूसरे के पूरक होते हैं, लेकिन इस सही तथ्य की अनदेखी करते हुए कर्मचारी नेताओं का अपमान किया। उनका कहना था कि कोई अधिकारी कर्मचारियों संग अमर्यादित भाषा का प्रयोग करेगा तो उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। माध्यमिक शिक्षक संघ की प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्य दिनेश चंद्र राय ने कहा कि कर्मचारियों के सम्मान की लड़ाई को निर्णायक स्तर पर लड़ा जाएगा। अगर डीडीओ का स्थानांतरण नहीं हुआ अगले आंदोलन के लिए माध्यमिक शिक्षक संघ बाध्य होगा।

इसी क्रम में कर्मचारी-शिक्षक पुलिस कप्तान डॉ. अरविंद चतुर्वेदी से मिले और पीजी कॉलेज के शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष विवेक कुमार सिंह शम्मी के साथ शहर कोतवाली में हुए डीडीओ के दु‌र्व्यवहार का पूरा वाकया बताते हुए चेताए कि अगर किसी कर्मचारी को फर्जी मुकदमे में फंसाया गया तो वह बर्दाश्त नहीं करेंगे। कर्मचारी-शिक्षकों में नारायण उपाध्याय, राणा सिंह, सौरभ पांडेय, डा. रियाज, विजय सिंह, अरविद कुमार सिंह, राकेश सिंह, अमित श्रीवास्तव, देवेंद्र कुमार मौर्या, बालेंद्र त्रिपाठी आदि रहे।

यह भी पढ़ें–शिक्षक बनने का इनका ख्वाब होगा पूरा

संबंधित ख़बरें...