कश्मीर में गाजीपुर का और एक रणबांकुरा शहीद

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। शहीदी धरती गाजीपुर के शहीदों में और एक नाम जुड़ गया। कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों से लोहा लेने में वीरगति को प्राप्त हुए सीआरपीएफ के पांच जवानों में गाजीपुर के भी एक रणबांकुरे महेश कुशवाहा(30) शामिल थे। घटना बुधवार की दोपहर बाद की है।

महेश गाजीपुर शहर से लगभग सटे जैतपुरा गांव के रहने वाले थे। यह गांव सपा विधायक डॉ. वीरेंद्र यादव का है। महेश कुशवाहा की शहादत की खबर घरवालों को घटना के कुछ देर बाद बुधवार की रात करीब आठ बजे मिली। महेश की शहादत की खबर मिलने के बाद सदमे में उनकी पत्नी उर्मिला की तबीयत बिगड़ गई। उसके बाद से उनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है, जबकि हृदय रोग से ग्रस्त उनके पिता गोरखनाथ कुशवाहा पहले से ही गाजीपुर शहर के एक निजी अस्पताल में दाखिल हैं। उन्हें बेटे की शहादत की जानकारी नहीं दी गई है। पिता की तबीयत बिगड़ने की सूचना मिलने पर वह अपनी छुट्टी मंजूर करा लिए थे और उस हिसाब से उन्हें घर के लिए गुरुवार को ट्रेन पकड़ना था, लेकिन अफसोस कि उसके पहले ही वह शहीद हो गए। उम्मीद की जा रही है कि महेश का पार्थीव शरीर उनके घर गुरुवार की रात दूसरे पहर तक पहुंचेगा।

महेश साल 2010 में सीआरपीएफ की 116 वीं बटालियन छत्तीसगढ़ में भर्ती हुए थे। करीब दो साल से उनकी तैनाती कश्मीर के आतंकवाद से ग्रसित जिला अनंतनाग में थी। महेश की शादी सीआरपीएफ में भर्ती होने से एक साल पहले साल 2009 में जखनियां क्षेत्र के बभनौली गांव में हुई थी। उनकी दो संतानें आदित्य (6) तथा प्रिया(5) हैं। महेश दो भाई थे। उनके बड़े भाई भोला कुशवाहा मुंबई की किसी निजी कंपनी में काम करते हैं। महेश की शहादत की खबर मिलने के बाद रिश्तेदार, परिचित उनके घर पहुंने लगे हैं। घर में सुबह महेश की मां दुलारी देवी तथा परिवार के अन्य सदस्य बिलख रहे थे। पास-पड़ोस की महिलाएं उनका ढांढस बंधा रहे थे। साथ ही पूरा गांव शोक में है। उधर अपने गांव जैतपुरा के जांबाज जवान महेश कुशवाहा के निधन से सपा विधायक डॉ.वीरेंद्र यादव भी गमजदा हैं। अपने ट्विटर एकाउंट पर वह शहीद महेश कुशवाहा और उनके घऱ में रोती-बिलखती महिलाओं की फोटो शेयर करने के साथ ही लिखे हैं-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों के हमले में सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए, जिसमें गाजीपुर के लाल हमारे ग्रामसभा जैतपुरा निवासी महेश कुशवाहा भी शहीद हो गए। शहीद महेश कुशवाहा को शत्-शत् नमन।