गाजीपुर में भी सड़क पर उतरे डॉक्टर, डीएम को सौंपे ज्ञापन

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। कोलकाता में अपने साथियों पर हमले से आक्रोशित डॉक्टरों के राष्ट्रव्यापी आंदोलन का असर सोमवार को गाजीपुर में भी दिखा। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन( आईएमए) के बैनर तले निजी डॉक्टर सड़क पर उतरे। उधर सरकापी अस्पतालों के डॉक्टर बांहों पर काली पट्टियां बांधकर अपना विरोध जताए। आईएमए की ओर से प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम के बालाजी को सौंपा गया।

इस मौके पर आईएमए के अध्यक्ष बीडी गुप्त ने कहा कि चिकित्सकों के प्रति आमजन में बढ़ती हिंसा चिंताजनक है। इसके लिए सरकार का रवैया जिम्मेदार है। कोलकाता की घटना उसी का हिस्सा है। स्थिति यह है कि चिकित्सक रोगी के इलाज की जोखिम नहीं लेना चाहते। सरकारी अस्पतालों का आलम यह है कि वहां जरूरी संसाधनों के अभाव का खमियाजा उल्टे चिकित्सकों को भुगतना पड़ता है। आईएमए अध्यक्ष ने कहा कि चिकित्सकों की सुरक्षा को लेकर अपेक्षित कानून को सरकार को शीघ्र लागू करना चाहिए। इस मौकेपर आईएमए के सचिव जेएस राय, केके सिंह, अर्चना सिंह, शरद राय, अनामिका, राजेश सिंह, राजेश राय, रजनी राय, अनामिका सिंह, एके राय, एसएल वर्मा, जेपी राय, एके सिंह, अनुपम, हर्षित गुप्त, उग्रसेन, जितेंद्र कुमार, विरेंद्र कुमार, वीपी राय आदि चिकित्सक भी थे।