उप चुनावः रंग लाई सपाइयों की मेहनत

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। त्रिस्तरीय पंचायत की विभीन्न सीटों के लिए हुए उपचुनावों के परिणाम सोमवार को घोषित हो गए। जिला पंचायत की करंडा तृतीय सीट का उपचुनाव सबसे प्रतिष्ठापरक था। खासकर सपा के लिए अपनी यह सीट बचाए रखने की चुनौती थी। इस चुनौती को सहज बना दी पार्टी उम्मीदवार मीरा यादव को मिली सहानुभूति और बसपा की मदद। फिर सपा नेताओं खासकर पार्टी विधायक डॉ.वीरेंद्र यादव की कड़ी मेहनत भी काम आई और रही सही कसर भाजपा नेताओं की चुनाव अभियान को लेकर बेपरवाही ने पूरी कर दी। नतीजा यह रहा कि सपा उम्मीदवार मीरा यादव ने एकतरफा मुकाबले में भाजपा प्रत्याशी विनीत सिंह को दस हजार 499 वोटों से हराया। विनीत सिंह के खाते में मात्र दो हजार 602 वोट गिने गए जबकि मीरा यादव को 13 हजार 101 वोट मिले।

जिला पंचायत की करंडा तृतीय सीट के उपचुनाव का नतीजा राजनीतिक हलके में चर्चा का विषय बना हुआ है। इसके चुनाव अभियान में भाजपा नेताओं की बेपरवाही को लोकसभा चुनाव में गाजीपुर सीट पर उसकी हुई हार से गिरे मनोबल से जोड़ा जा रहा है। उस क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना है कि पार्टी नेताओं को यही करना था तब उन्हें उम्मीदवार देने की जरूरत ही क्यों पड़ी। यह तो जानबूझ कर पार्टी का भद पिटवाने जैसा है। मालूम हो कि जिला पंचायत की करंडा तृतीय सीट पर 2015 में हुए आम चुनाव में सपा के विजय यादव पप्पू जीते थे, लेकिन उनकी हत्या के बाद यह सीट खाली हो गई थी। इसके लिए हुए इस चुनाव में सपा उनकी पत्नी मीरा यादव को लड़ाने का फैसला की थी।

बहरहाल, त्रि-स्तरीय पंचायत के लिए अन्य स्थानों पर हुए उप चुनाव में जमानियां क्षेत्र पंचायत की खजुहां सीट पर सच्चिदानंद ने जीत दर्ज कराई। सच्चिदानंद को 432 एवं बाबूलाल को 238 मत हासिल हुए, जबकि मरदह क्षेत्र पंचायत की खजुरगांव सीट पर सुभाष राम की जीत हुई। सुभाष को 385 मत मिले। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी सुनील 346 वोट पाए। इसी तरह ग्राम प्रधानों के लिए हुए उपचुनाव में कासिमाबाद ब्लाक के धरवां में अम्मार रजा ने 27 मतों से चुनाव जीता। उनको 681 व उनके प्रतिद्वंद्वी उर्मिला पत्नी योगेंद्र को 654 मत मिले। दुधौड़ा में रमाशंकर राजभर निर्वाचित हुए।  उन्हें 459 वोट मिले थे। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी राजेंद्र राजभर को 449 मत प्राप्त हुए थे। जगदीशपुर दहेंदु में निर्वाचित श्रीनाथ राजभर को 639 व निकटतम प्रतिद्वंदी मीना पत्नी महेंद्र को 574 मत मिले थे। सलेमपुर में जीते शोभनाथ राजभर 323 वोट पाए थे। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी जगदीश के खाते में 265 वोट गिने गए थे। उधर बाराचवर ब्लाक में रामपुर उर्फ मुबारकपुर में राजकिशोर राम की जीत दर्ज हुई। वह 341 पाए थे। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी अतवरिया देवी को 219 मत मिले थे। इसी तरह अफलेपुर उर्फ महुवारी में स्वामी नाथ यादव 44 मतों से विजयी घोषित हुए। उनको 365 तथा तथा रमाशंकर राम को 321 मत मिले। करंडा ब्लाक में रामनथपुर में दीपक यादव को 469 वोट मिले थे। उसके सापेक्ष उनके प्रतिद्वंद्वी आलोक यादव के खाते में 327 वोट गिने गए। इसी तरह सादात ब्लाक के मुबारकपुर हरतरा में ग्राम प्रधान पद के लिए धन्नू यादव ने 366 वोट प्राप्त कर धुरिया देवी को 100 वोटों से हराया।

यह भी पढ़ें–योगीजी! निरंकुश निकले यह अफसर

संबंधित ख़बरें...