पूर्वांचल एक्सप्रेस वेः मांझीघाट तक जाएगा बलिया लिंक

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। मुहम्मदाबाद तहसील के हैदरिया (फखनपुरा) से चांद सराय(लखनऊ) तक जाने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का प्रस्तावित बिस्तार बलिया के मांझीघाट तक होगा। इस विस्तार को बलिया लिंक एक्सप्रेस वे का नाम दिया गया है।

हालांकि, गाजीपुर राजस्व विभाग से जुड़े अधिकारी ऊपर के निर्देश के अभाव में फिलहाल कुछ भी बताने में असमर्थता जता रहे हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण(यूपीडा) के सूत्रों की मानी जाए तो अभी बलिया लिंक एक्सप्रेस वे का डीपीआर(विस्तृत कार्ययोजना) नहीं बना है। इसके लिए कंसलटेंट का चयन शीघ्र होगा। डीपीआर बनने के बाद बलिया लिंक का मार्ग (एलाइनमेंट) तय होगा। फिर भूमि अधिग्रहण, निर्माण वगैरह का काम शुरू होगा।

उस दशा में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए निर्धारित निर्माण समय सीमा अगस्त 2020 से ज्यादा वक्त बलिया लिंक के निर्माण में लग सकता है। वैसे देखा जाए तो बलिया लिंक एक्सप्रेस वे एनएच-31 से जुड़ेगा लेकिन यूपीडा के सूत्रों ने बताया कि हैदरिया गाजीपुर से मांझीघाट वाया बलिया के लिए एक अन्य ग्रीन फिल्ड मार्ग बनेगा। यह फोर लेन का होगा, लेकिन बाद में जरूरत पड़ने पर इसे छह लेन बनाया जा सकता है। अनुमान है कि बलिया लिंक एक्सप्रेस वे के निर्माण पर करीब साढ़े तीन हजार करोड़ रपये का खर्च आएगा।

उधर हैदरिया (फखनपुरा) से चांदसराय(लखनऊ) तक जा रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य तय सीमा में पूरा करने के लिए जोरशोर से दिन-रात काम चल रहा है। यह एक्सप्रेस वे 340 किलोमीटर लंबा है। यह छह लेन का है। भविष्य में जरूरत पड़ने पर इसमें और दो लेन जोड़ा जा सकेगा। निर्माण में धनाभाव बाधा न बने। इसको लेकर प्रदेश सरकार संजीदा है। पिछले माह सरकार की कैबिनेट बैठक में बैंकों से कर्ज के जरिये दो हजार करोड़ रुपये जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जा चुकी है।

यह भी पढ़ें–मंत्री बनाम पूर्व मंत्री

संबंधित ख़बरें...