फोर लेनः वाया ताड़ीघाट से सैय्यदराजा तक जाएगी सड़क! गंगा पुल की निर्माण लागत को लेकर एनएचआई और आरबीएनएल के बीच चल रही साझेदारी की बात

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। संभव हो कि गाजीपुर से सैय्यदराजा(चंदौली) तक प्रस्तावि फोर लेन सड़क वाया ताड़ीघाट से गुजरे। राजस्व विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक फोर लेन के लिए गंगा में पुल का निर्माण जरूरी है। लिहाजा इसको लेकर एनएचआई की आरबीएनएल से बात चल रही है। दरअसल ताड़ीघाट-मऊ रेल खंड के लिए आरबीएनएल गंगा में पुल का निर्माण करा रहा है। यह पुल रेल के साथ ही सड़क के लिए भी स्वीकृत है। सड़क एनएचआई की सड़क गाजीपुर-सैय्यदराजा से भी जुड़ेगी। सूत्रों ने बताया कि इस दशा में एक प्रस्ताव है कि उस पुल निर्माण की कुल लागत भार का आधा हिस्सा एनएचआई खुद उठाए। राजस्व विभाग के सूत्रों ने बताया कि वैसे इस प्रस्ताव पर आरबीएनएल और एनएचआई के बीच कोई आखिरी फैसला नहीं हुआ है।

मालूम हो कि गाजीपुर-सैय्यदराजा हाइवे पर फोर लेन को लेकर तीन प्रस्ताव अब तक बन चुके हैं। पहला प्रस्ताव गाजीपुर-सैय्यदराजा हाइवे के लिए था। मतलब वाया ताड़ीघाट-जमानियां। बल्कि उसी प्रस्ताव के डीपीआर (डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट) को अंतिम मानते हुए मोदी सरकार-1 में ही तत्तकालीन केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा की पहल पर यह फोर लेन मंजूर हुआ था। इसी साल मार्च में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लखनऊ पहुंच कर इसका शिलान्यास भी कर दिया था। तब बताया गया था कि इसके निर्माण पर कुल  1561 करोड़ रुपये की लागत आएगी, लेकिन पहले डीपीआर के मुताबिक फोर लेन के निर्माण के लिए जगह-जगह पहले से आबाद घनी बस्तियां उजाड़नी पड़तीं। कई पक्के निर्माण ढहाने पड़ते। उनके मुआवजे भी देने पड़ते। इससे फोर लेन के निर्माण की लागत भी बढ़ रही थी। उसके कारण दूसरा डीपीआर बना। उसमें घनी आबादियों से बाईपास बनाने की जरूरत बताई गई, लेकिन उसे भी खारिज कर तीसरा डीपीआर बना।

तीसरे डीपीआर  में प्रस्तावित फोर लेन को वाराणसी से गोरखपुर तक बन रहे फोर लेन पर महाराजगंज और फतेहउल्ल्हपुर के बीच बाईपास से निकालने और करंडा ब्लाक के मैनपुर से गुजारने की बात हुई। उसमें मैनपुर और उसके पार जिगना घाट के बीच गंगा में पुल बनाने की बात कही गई। तीसरे डीपीआर के मुताबिक गाजीपुर के सदर, करंडा तथा जमानियां ब्लाक के 40 और चंदौली जिले के 27 राजस्व गांव के भूखंड अधिग्रहित होंगे। उनकी पैमाईश का काम भी कर लिया गया, लेकिन इसी बीच एनएचआई और आरबीएनएल में गंगा पुल निर्माण को लेकर वार्ता की आई खबर तीसरे डीपीआर को भी अनिश्चितता में डाल दी हे। राजस्व विभाग के सूत्रों ने बताया गाजीपुर-शैय्यदराजा हाइवे पर प्रस्तावित फोर लेन के लिए तीन प्रस्ताव ऊपर गए हैं, लेकिन इनमें कोई अब तक मंजूर नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें–दो जालसाजों का यह कारनामा

संबंधित ख़बरें...