चलती ट्रेन से युवक को नीचे फेंके, करतूत आरपीएफ जवानों की

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। यूसुफपुर-शहबाजकुली रेलवे स्टेशन के बीच मीरगंज रेलवे क्रासिग के पास अप लाइन में चलती सदभावना एक्सप्रेस से आरपीएफ जवानों ने युवक संजय कुमार बिंद (23) को नीचे फेंक दिया। घटना शुक्रवार की दोपहर करीब पौने दो बजे की है। संजय के सिर, चेहरे व शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट लगी। आस-पास के लोगों ने सरकारी एंबुलेंस बुलवा उसे सीएचसी मुहम्मदाबाद भेजवाया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे परिवारी जन घर ले गए। संजय नंदगंज थाने के टड़वां गांव का रहनो वाला बताया गया है।

संजय कुमार बिंद मुहम्मदाबाद कॉलेज में बीए में प्रवेश लेना है। वह चरित्र प्रमाणपत्र लेने के लिए घर लौट रहा था। यूसुफपुर स्टेशन पर सदभावना एक्सप्रेस के आरक्षित बोगी में चढ़ गया। ट्रेन के चलने के बाद आरपीएफ के दो जवान उसके पास आए और अवैध तरीके से आरक्षित बोगी में चढ़ने पर उसे फटकारने लगे। आरोप लगाए कि वह चैन पुलिंग कर यूसुफपुर स्टेशन पर ट्रेन को रोका था। संजय ने अपने परिचित किसी वीरेंद्र नाम के टीटीई का जिक्र करते हुए बताया कि उनके कहने पर ही वह इस आरक्षित बोगी में चढ़ा है। चैन पुलिग उसने नहीं की। तब आरपीएफ के जवान एकदम से उखड़ गए और बोगी के गेट पर उसे धक्का देकर नीचे गिरा दिए। इस संबंध में आरपीएफ इंचार्ज गुलाब सरोज ने घटना के प्रति अनभिज्ञता जताई। कहे कि वह अभी बाहर हैं। संभव हो कि यह करतूत बाहर की टीम का हो।

यह भी पढ़ें–भाजपा पूरा की वचन, नीरज शेखर को दी मौका