पूर्व मंत्री शादाब फातिमा की तबीयत नासाज, अस्पताल में देखने पहुंचे शिवपाल

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

बाराचवर। प्रदेश सरकार की पूर्व मंत्री शादाब फातिमा की तबीयत नासाज होने की खबर मिली है। उन्हें लखनऊ के अस्पताल में दाखिल कराया गया। जहां प्रगतिशील समाजवादी पार्टी(लोहिया) के राष्ट्रीय संयोजक शिवपाल यादव उनका हाल जानने पहुंचे थे।

उनके प्रतिनिधि असलम हुसैन ने बताया कि पार्टी की ओर से प्रदेश सरकार के खिलाफ गुरुवार को लखनऊ में धरना-प्रदर्शन था। उसमें शादाब शिरकत कर रही थीं। उसी बीच उनकी तबीयत अचानक बिगड़ गई। उन्हें तत्काल सिविल अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन सेहत दुरुस्त होने के बाद उनको शुक्रवार को अस्पताल से छुट्टी मिल गई। मालूम हो कि शादाब फातिमा साल 2007 में गाजीपुर सदर सीट से पहली बार सपा के टिकट पर पहली बार विधानसभा में पहुंची थीं। उसके बाद साल 2012 में गाजीपुर की ही जहूराबाद सीट से विधायक चुनी गईं। फिर प्रदेश में बनी सपा की अखिलेश सरकार के मंत्रिपरिषद में उन्हें जगह मिली थी। सपा में वह शिवपाल यादव की बेहद करीबी मानी जाती थीं।

यही वजह रही कि जब तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से शिवपाल यादव का विवाद शुरू हुआ तब शादाब फातिमा को मंत्री पद से हटना पड़ा था। यही नहीं बल्कि साल 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्हें सपा टिकट भी नहीं दी। उसके बाद शिवपाल यादव सपा से अलग होकर अपनी खुद की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी(लोहिया) बनाए तो शादाब फातिमा उनके साथ हो लीं। उन्हें प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) का मुख्य प्रवक्ता पद की जिम्मेदारी सौंपी गई। शादाब फातिमा अपनी वाकपटुता के कारण गाजीपुर में भी काफी लोकप्रिय हैं। वह मूलतः गाजीपुर के कासिमाबाद क्षेत्र स्थित गंगौली गांव की रहने वाली हैं। गाजीपुर में कई बड़े काम उनके नाम दर्ज हैं। कासिमाबाद तहसील का गठन का श्रेय उन्हीं को जाता है।

यह भी पढ़ें–कप्तान हुजूर! सक्रिय हैं शराब कारोबारी

संबंधित ख़बरें...