ब्लेकमेलर गैंग के महिला सहित तीन सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़े, खुद को बताए थे टीवी चैनल का रिपोर्टर

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। जंगीपुर बाजार में मेडिकल स्टोर संचालक को ब्लेकमेल करने करने वाले गिरोह की महिला तथा उसके कथित पत्रकार साथियों को पुलिस ने रविवार को धर दबोचा।

मेडिकल स्टोर संचालक के पास करीब दस दिन पहले एक महिला पहुंची और दवा लेने के बहाने मेडिकल स्टोर में एकदम अंदर चली गई। मेडिकल स्टोर संचालक कुछ समझ पाता कि दो युवक खुद को एक खबरिया टीवी चैनल का पत्रकार बताते हुए उसका और महिला का वीडियो बनान लगे। फिर महिला तथा मेडिकल स्टोर संचालक से पूछताछ करने लगे। लोकलाज का डर दिखा कर उसे अपने झांसे में लिए। फिर उससे कुछ रुपये वसूले और बाद में मामले को खत्म करने की बात कह वह चलते बने। उनके पीछे वह महिला भी निकल गई। बाद में मेडिकल स्टोर संचालक को फोन कर सौदेबाजी करने लगे। यहां तक कि वह चार लाख रुपये की डिमांड कर दिए। धमकी दिए कि रुपये नहीं मिले तो उसको दुष्कर्म में फंसा दिया जाएगा।

आखिर में आजिज आकर मेडिकल स्टोर संचालक पुलिस कप्तान से मिला। पुलिस कप्तान ने उन युवकों का फोन नंबर के जरिये उन्हें ट्रेस कराया। उसके बाद उन्हें पकड़ने के लिए प्लान बना। पुलिस कप्तान ने प्लान में जंगीपुर और शहर कोतवाली पुलिस को लगाया। प्लान के तहत मेडिकल स्टोर संचालक ने फोन कर उन कथित पत्रकारों को रुपये देने के लिए उस महिला के संग जंगीपुर बाजार के यादव मोड़ पर बुलाया, लेकिन वह कथित पत्रकार उन्हें जंगीपुर कृषि मंडी स्थित पुलिस चौकी के पास पहुंचने को कहे। वहां पहुंच कर वह पहले से मौजूद कथित पत्रकारों को रुपये के नाम पर थैला पकड़ाए कि उसी बीच सादे कपड़े में मौजूद पुलिस कर्मियों ने उन्हें दबोच लिया। वह महिला भी हिरासत में ले ली गई। पूछताछ में उन कथित पत्रकारों ने अपने अन्य दो साथियों का भी नाम बताया। फिलहाल इस मामले में पुलिस लिखापढ़ी नहीं की है। पकड़े गए कथित पत्रकारों में एक खुद को हंसराजपुर थाना शादियाबाद का निवासी बताया, जबकि महिला शादियाबाद थाने के ही बभनौली करमईता गांव की बताई गई है। वह शादीशुदा है। पकड़े गए कथित पत्रकारों ने यह भी बताया कि उनकी गैंग की सरगना यही महिला है।

यह भी पढ़ें–…और खुद को कर दी आग के हवाले