विद्युत उपकेंद्र में घुसकर एसएसओ को पीटेे, मामला करीमुद्दीनपुर का

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

बाराचवर। करीमुद्दीनपुर विद्युत उपकेंद्र में ड्यूटी पर तैनात एसएसओ पर हमले की खबर मिली है। घटना गुरुवार की रात करीब दस बजे की बताई गई है। हालांकि पुलिस इसे संदिग्ध मान रही है।

खबर के मुताबिक बाइक सवार चार युवक पहुंचे और उतरांव फीडर द्वितीय की आपूर्ति बंद करने को कहे। जब एसएसओ दीपक गुप्त ने ऐसा करने से मना किया तब वह उस पर पिल पड़े। फिर उसका निजी और सरकारी मोबाइल फोन छीन लिए। उसके बाद वह धमकी देते हुए चले गए। दोनों युवक अपने मुंह गमछे से बांधे थे। जाने से पहले वह उतरांव द्वितीय फीडर की बिजली आपूर्ति बंद करा गए। बाद में एसएसओ ने इसकी जानकारी जेई को दी। फिर इसकी जानकारी विभाग के एक्सईएन को दी गई। उसके बाद उतरांव फीडर द्वितीय की बिजली बहाल की गई।

इस संबंध में एसओ करीमुद्दीनपुर अशेषनाथ सिंह से इस बाबत संपर्क किया गया। उनका कहना था कि अव्वल तो इस मामले में शुक्रवार की देर शाम तक कोई तहरीर नहीं मिली है। लिहाजा यह साफ नहीं है कि हमलावरों का आखिर उतरांव फीडर दो की बिजली बंद कराने का मकसद क्या था। दूसरे विद्युत उपकेंद्र की चहारदीवारी थाना मुख्यालय की चहारदीवारी से एकदम सटी है। उस हिस्से में थाने का आवासीय भवन भी है। बावजूद उतनी बड़ी घटना की आहट थाना मुख्यालय में मौजूद पुलिस कर्मियों को नहीं मिली। फिर पीड़ित एसएसओ घटना के बाद पहले थाने में आने के बजाय अपने लाइन मैन को घटना की सूचना देने के लिए उसके घर चंदकुर गांव जाना जरूरी समझा। एसओ ने बताया कि वह खुद कथित पीड़ित एसएसओ से दो बार तहरीर देने को कह चुके हैं, लेकिन वह अपने ऊपर के अधिकारियों के आने पर तहरीर देने की बात दोहरा रहा है।

यह भी पढ़ें–पुलिस कांस्टेबल को गोली मार भागे लुटेरे

संबंधित ख़बरें...