…तब फिर खतरे के निशान को पार करेंगी गंगा!

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। गंगा एक बार फिर बढ़ने लगी हैं। गुरुवार की सुबह से जलस्तर प्रतिघंटा एक सेंटीमीटर के हिसाब बढ़ने लगा। हालांकि शाम में यह रफ्तार कुछ कम हुई। छह बजे जलस्तर 62.750 मीटर दर्ज हुआ। तटवर्ती गांवों के लोगों के माथे पर चिंता की लकीरें फिर से खींचने लगी हैं।

सिंचाई विभाग के एक्सईएन राजेश कुमार शर्मा ने बताया कि ऊपर यमुना में बढ़ाव है। उसका दबाव गंगा में है। दरअसल राजस्थान में भारी बारिश के चलते यमुना में बढ़ाव है। उन्होंने कहा कि हालात यही रहे तो गाजीपुर में अभी एक दो दिन गंगा में बढ़ाव रह सकता है। जलस्तर एक फीट और ऊपर जा सकता है। उस दशा में गंगा फिर खतरे के निशान से ऊपर जा सकती हैं। खतरा का निशान 63.105 मीटर है। हाल में उस निशान से गंगा ऊपर बह रही थीं। उधर सहायक नदियां उदंती, बेसो, मगई की बाढ़ का पानी के कहर से इलाकाई लोग अभी उबर नहीं पाए हैं। भुतहियाताड़-बुजुर्गा मार्ग पर आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है। हंसराजपुर जाने के लिए लोगों को जंगीपुर से जाना पड़ रहा है।