सपा में प्रसपा का नहीं होगा विलयः शिवपाल यादव

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। सपा में अपनी पार्टी के विलय को लेकर अटकलों पर प्रगति समाजवादी पार्टी (प्रसपा) मुखिया शिवपाल यादव ने विराम लगा दिया है।शुक्रवार को इटावा के जसवंतनगर में उन्होंने मीडिया से बातचीत में साफ कहा कि सपा में उनकी पार्टी के विलय का कोई सवाल ही नहीं है, लेकिन उन्होंने यह भी जोड़ा कि सांप्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए उन्हें सपा से गठबंधन से करने से कोई गुरेज नहीं होगा।

श्री यादव ने अपनी बात को और तफसील में ले जाते हुए कहा कि उनके लिए सपा से विलय का वक्त गुजर चुका है, लेकिन गठबंधन का विकल्प खुला है। गांधी जयंती पर प्रदेश के विधानमंडल के विशेष सत्र में खुद के शामिल होने के सवाल पर उनका कहना था कि उनके इस कदम को दलीय दायरे से जोड़ना गलत है। महात्मा गांधी किसी दल विशेष के नहीं थे। दूसरे विरोधी दलों का उस विशेष सत्र में नहीं जाना उनका अपना फैसला हो सकता है। उनकी अपनी सोच हो सकती है।

इस मौके पर शिवपाल यादव ने भाजपा सरकार पर तीखा प्रहार भी किया। कहे कि यह सरकार हर मुद्दे पर फेल है। उसकी नीतियां जनविरोधी हैं। प्रदेश की कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। किसान छुट्टे पशुओं से परेशान हैं। मालूम हो कि शिवपाल यादव का गाजीपुर में अपना आधार है। सपा में भी उन्हें चाहने वाले हैं। इधर सपा मुखिया अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के आए बयानों से यह कयास लगाए जाने लगा था कि दोनोंजन अब एक हो जाएंगे, लेकिन शिवपाल यादव का इटावा से आए बयान ने इस कयास पर विराम लगा दिया है।

संबंधित ख़बरें...