घर से निकली मां-बटी की अलग-अलग जगह मिली लाश, मामला हत्या का

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। घर से निकलीं मां-बेटी की रविवार की सुबह अलग-अलग जगह लाश मिली। वह पड़ोसी जिला आजमगढ़ के सीमावर्ती मेहनाजपुर थाना क्षेत्र के ढकवा उर्फ ढाका गांव की रहने वाली थीं। उनमें मां नूरन(45) की लाश उसके घर के पास ही धान के खेत में पड़ी थी, जबकि बेटी गजाली(19) पुत्री निसार अहमद की लाश गाजीपुर सीमा में सादात थाने के मलौरा गांव के पास सड़क किनारे पानी भरे गड्ढे में औंधे मुंह पड़ी थी। वह दोनों घर से शनिवार की रात निकली थीं।

सीओ सैदपुर आरबी सिंह ने बताया कि सादात थाने के मलौरा गांव के चौकीदार ने सुबह थाने पर युवती गजाली की लाश की सूचना दी। मौके पर युवती की लाश का ऊपर का हिस्सा गड्ढे के पानी में डूबा था। पहचान के बाद पुलिस उसके घर पहुंची तब पता चला कि उसकी मां की मौत की भी जानकारी मिली। सीओ सैदपुर ने बताया कि युवती के शरीर पर बाहरी चोट के कोई निशान नहीं थे। पीएम रिपोर्ट से ही उसकी मौत का कारण स्पष्ट होगा। उधर आजमगढ़ के पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे थे। युवती का पिता निसार अहमद दुबई में काम करता है। निसार की संतानों में गजाली सहित तीन बेटियों के अलावा दो बेटे हैं। आजमगढ़ पुलिस के हवाले से सीओ सैदपुर ने बताया कि रात 11 बजे के करीब गजाली के फोन पर कॉल आई। उसके बाद वह घर से निकली। उसके बाद मां नूरन भी घर से निकली। फिर दोनों की लाश मिलने की सूचना घरवालों को मिली। सीओ सैदपुर ने कहा कि यह हत्या का मामला है। विवेचना में ही हकीकत सामने आएगी।