जल जमाव को लेकर करईल के किसानों का फूटा गुस्सा, दुबिहां मोड़ पर लगाए जाम

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

बाराचवर। मगई नदी की बाढ़ और बारिश के पानी के जमाव से आजिज करईल के किसानों का गुरुवार को सब्र का बांध टूट गया। दुबिहां मोड़ पर करईल के दर्जनों गांवों के किसानों ने दोपहर करीब एक बजे मुहम्मदाबाद-चितबड़ागांव मार्ग पर रास्ता जाम कर दिया। मौके पर पहुंचे एसडीएम मुहम्मदाबाद राजेश गुप्त के आश्वासन पर डेढ़ घंटे बाद जाम खत्म हुआ।

किसानों का कहना था कि गत दिनों हुई लगातार बारिश और मगई की बाढ़ से पूरे करईल में पानी जमा हो गया है। यह पानी समय से पहले नहीं निकला तो रवि सत्र की खेती के लिए जोताई-बुवाई का काम बाधित हो सकता है। वैसे भी खरीफ सत्र की फसलें बर्बाद हो चुकी हैं। बावजूद महेंद गांव में मछली मारने के लिए मगई में जाल-बांध से पानी की निकासी रोक दी गई है। यह उनके साथ सरासर अन्याय है। रास्ताजाम करने वालों में राजापुर, करीमुद्दीनपुर, भरौली, बिश्वंभरपुर, गोड़ऊर,  मसौनी, सियाडी, सोनवानी, सरदरपुर नसीराबाद, ढुडीहा, देवरीया, लौवाडीह, जोंगा, रेडमार, सियाड़ी गांव के ग्रामीण शामिल थे। शुरू में वह मौके पर डीएम को बुलाने की मांग पर अड़े थे। एसडीएम मुहम्मदाबाद ने भरोसा दिया कि पानी निकासी की समुचित व्यवस्था की जाएगी। उसके बाद ग्रामीण जाम खत्म किए। रास्ता जाम से सड़क के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई थी।

यह भी पढ़ें–पुलिस का दारोगा कि गुंडा

संबंधित ख़बरें...