भाजपाः हर मंडल में अध्यक्ष के लिए मांगे गए तीन नामों के पैनल!

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। भाजपा में मंडल इकाइयों के चुनाव को लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। छावनी लाइन स्थित कार्यालय में शुक्रवार को इसके लिए मंडल चुनाव अधिकारियों और मंडल सह चुनाव अधिकारियों के अलावा मौजूदा मंडल अध्यक्षों की कार्यशाला भी हुई। उस मौके पर भी संगठन चुनाव में बड़े नेताओं की मनमानी की बात आई। यह भी सवाल आया कि क्या पूर्व जिलाध्यक्षों और पार्टी विधायकों से मंडल अध्यक्ष के लिए तीन नामों का पैनल क्षेत्रीय नेतृत्व ने मांगा है। बैठक में मौजूद जिला निर्वाचन अधिकारी नरेंद्र सिंह ने इस सवाल का कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने बताया कि  गाजीपुर के कुल 2949 बूथों में 2632 बूथों को चुनावी प्रक्रिया मे लिया गया है। शेष की चुनावी प्रक्रिया बाद में पूरी की जाएगी। मंडल अध्यक्ष तथा प्रतिनिधियों के चुनाव में सिर्फ बूथ अध्यक्ष भाग लेंगे। मंडल अध्यक्ष पद के उम्मीदवार के लिए उसका कम से कम दो बार सक्रिय सदस्य होना जरूरी होगा। मंडल इकाइयों में महिलाओं तथा अनुसूचित वर्ग के लोगों को मौका देना अनिवार्य होगा।

जिला चुनाव चुनाव अधिकारी ने कहा कि मंडल चुनाव अधिकारीयों तथा सहायक चुनाव अधिकारियों का अंतिम प्रयास यही करना है कि सर्वसम्मति से मंडल अध्यक्ष तथा प्रतिनिधि चुने जाएं और उन्हीं को अवसर मिले जो पार्टी हित व पार्टी संविधान के प्रति समर्पित होकर काम करते हों। उन्होंने बताया कि मंडल चुनाव के मतदाताओं तथा सक्रिय सदस्यों की सूचि प्रकाशित की जा चुकी है। जिला सह चुनाव अधिकारी निर्मला पटेल ने कहा कि संगठन की चुनावी प्रक्रिया शांतिपूर्ण व सर्वसम्मति से पूर्ण हो यह हर कार्यकर्ता का नैतिक दायित्व है। अंत में जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह ने आभार प्रकट किया।

कार्यशाला का शुभारंभ पं. दीनदयाल उपाध्याय व डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के चित्र पर पुष्प अर्पण और वंदे मातरम् की प्रस्तुति से हुआ।   कार्यशाला में प्रवीण सिंह, ओमप्रकाश राम, श्यामराज तिवारी, अच्छे लाल गुप्त, शशिकांत शर्मा, रूद्रा पांडेय, मीरा श्रीवास्तव, श्यामनारायन राम, रासबिहारी राय, संपूर्णानंद उपाध्याय, अमरेश गुप्त, सरोज मिश्रा, विष्णु सिंह, पंकज राय, दिलीप गुप्त, रामकरन बिंद, सुरेश बिंद, मनोज बिंद आदि उपस्थित थे। संचालन रामनरेश कुशवाहा ने किया। मंडल अध्यक्ष और प्रतिनिधियों की चुनाव प्रक्रिया 13 अक्टूबर से शुरू होगी और उम्मीद है कि अधिकतम 16 अक्टूबर तक निर्वाचित मंडल अध्यक्षों के नाम घोषित कर दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें–अरे! मुख्तार को ललकारे

संबंधित ख़बरें...