एनएच-31ः सड़क की होगी मरम्मत, 143 करोड़ रुपये मंजूर

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

गाजीपुर। बलिया हाईवे (एनएच-31) के फोर लेन की उम्मीद लगाए लोगों के लिए मायूस करने वाली यह खबर है। फोर लेन का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है। अलबत्ता गाजीपुर से माझी घाट (बलिया) तक सड़क को दुरुस्त करने का काम जरूर होगा। इसके लिए बलिया सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त की पहल पर केंद्र सरकार 143 करोड़ रुपये मंजूर की है। एनएचआई के प्रोजेक्ट मैनेजर वाईपी सिंह ने भी इसकी पुष्टि की।

प्रोजेक्ट मैनेजर ने बताया कि मरम्मत कार्य के लिए टेंडर आमंत्रित किए गए हैं। कुल 128 किलोमीटर तक मरम्मत का काम होना है। एक सवाल पर उन्होंने स्पस्ट किया कि सड़क के चौड़ीकरण का फिलफाल कोई प्रस्ताव नहीं है। मरम्मत का काम माझीघाट पुल के उस पार एप्रोच तक होगा। एनएच-31 की सबसे ज्यादा खस्ता हाल बलिया जिला मुख्यालय के बाद वहां के बैरिया तहसील क्षेत्र में है। वैसे गाजीपुर में पड़ने वाले हिस्से में भी सड़क कई जगह क्षतिग्रस्त है।

मालूम हो कि केंद्र में पहली मोदी सरकार के कार्यकाल में यह ऐलान हुआ था कि एनएच-31 को फोर लेन बनाया जाएगा। उस ऐलान के बाद हाईवे से जुड़े गांवों, बाजार के लोग काफी खुश थे। कई किसान और भूखंड मालिक भी उत्साहित हुए थे कि फोर लेन के लिए उनका भूखंड के अधिग्रहण होंगे और उसके एवज में उन्हें बतौर मुआवजा मोटी रकम मिलेगी, लेकिन अब केंद्र सरकार से पुरानी सड़क की मरम्मत के कार्य को प्रस्ताव को मंजूरी मिली है तो यह भी स्पस्ट हो गया है कि फिलहाल फोर लेन का काम नहीं होगा। इलाकाई लोग आशंका जता रहे हैं कि मरम्मत के नाम पर धन की बंदरबांट होगी। सबसे ज्यादा गाजीपुर वाले हिस्से में इसकी गुंजाइश बनी रहेगी।

वैसे हाईवे की मरम्मत के साथ ही इस पर पड़ने वाली गाजीपुर (कठवामोड़) में बेसो नदी पर नए पुल के निर्माण के लिए करीब 11 करोड़ और बलिया में जयप्रभा पुल की मरम्मत के लिए भी चार करोड़ रुपये मंजूर हुए हैं।

यह भी जरूर पढ़ें– बलिया हाईवे रहेगा बंद