रेल पटरी पर मिली अधेड़ की लाश, बेटी की बीमारी के चलते आर्थिक दबाव में थे सुभाष राम

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

देवकली। बड़ी बेटी की गंभीर बीमारी के इलाज के चलते आर्थिक दबाव झेल रहे अधेड़ सुभाष राम (50) की क्षतविक्षत लाश सोमवार की सुबह तरांव स्टेशन से कुछ ही दूर बुढ़ीपुर मौजा के पास रेल पटरी पर मिली। वह देवकली गांव के रहने वाले थे। वह मेहनत मजदूरी कर किसी तरह अपने परिवार का पेट पालते थे। प्रथम दृष्टया यह साफ लग रहा था कि उनकी मौत किसी ट्रेन से कट कर हुई, लेकिन यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि यह आत्महत्या का मामला है या हादसा। वह रविवार की रात भोजन किए और उसके कुछ देर बाद घर से निकल गए थे। उसकी जानकारी घरवालों को नहीं हुई थी। रेल पटरी पर उनकी लाश की सूचना उन्हें गांव के लोगों से मिली।

सुभाष राम की बड़ी बेटी रेखा (30) गुर्दा रोग से पीड़ित है। उसका इलाज वाराणसी में एक निजी अस्पताल में चार दिनों से चल रहा है। इलाज में काफी खर्च हो रहा है। सुभाष राम उससे काफी दबाव में थे। उनकी मौत से घरवालों सहित पूरे ग्राम मे कोहराम मच गया। उनकी पत्नी उषा देवी, पुत्र दीपक(22), बेटी सुलेखा(18) तिरंगा (15) दहाड़ें मार कर रोने लगी थीं।

यह भी पढ़ें–ग्राम प्रधान की हेकड़ी, प्रशासन ने तोड़ी

संबंधित ख़बरें...