जेई से डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

ग़ाज़ीपुर। जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य ने तहसील कासिमाबाद क्षेत्र के ग्राम परजीपाह में निर्माणाधीन स्थाई पशु आश्रय केन्द्र का स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होने निर्माण कार्य की गुणवत्ता देखी तथा पशु आश्रय केन्द्र के निर्माण में ढिलाई एंव धीमी प्रगति तथा निर्माण कार्य गुणवत्ता पूर्ण न होने की स्थिति में नाराजगी व्यक्त करते हुए जे0ई0 अनिल कुमार से स्पष्टीकरण का निर्देश दिया। जिलाधिकारी आज ग्राम परजीपाह पहुचकर वहा बन रहे स्थाई गौशाला का निरीक्षण कर वहां प्रयोग होने वाले ईट, बालू, सीमेन्ट, पशुओं को चारा देने वाले चरन, आदि का निरीक्षण किया, उन्होने निर्माण कार्य में प्रयोग होने वार्ले इंट जो बिल्कुल घटिया किस्म के थे उन्हे तत्काल वापस कर अव्वल किस्म के ईट का प्रयोग करने का निर्देश दिया, बीम की ढ़लाई को खुदवाकर चेक किया जिसमें सरियां भी मानक के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण नही मिली, पशुओ को चारा दिये जाने वाले चरन में भी सफेद बालू का प्रयोग किया गया जिसे तोड़कर गुणवत्तापूर्ण मटेैरियल्स को प्रयोग करते हुए निर्माण कराने का निर्देश दिया। शासन द्वारा जनपद में दो स्थाई गोवंश आश्रय स्थल का निर्माण कराया जा रहा है जिसमें दूसरा स्थाई गोआश्रय स्थल करीमुद्दीनपुर में है जिसका निर्माण कार्य लगभग 80 प्रतिशत तक पूर्ण हो चुका है। इसके पश्चात जिलाधिकारी ने ग्राम नदुला एवं धरवारकलां कासिमाबाद में मुख्यमंत्री घोषणा के अन्तर्गत निर्मित निर्माणाधीन सड़क का निरीक्षण किया जिसमें अभी पी0 सी0 होनी है। जिसे जिलाधिकारी ने स्वयं खुदवाकर सड़क में डाले गये खडंजे की गुणवत्ता चेक की जिसमें दो कोट खडं़जे जो मानक के अनुरूप सही पाये गये उन्होने सम्बन्धित जे0 ई0 को सड़क के मोड़ जो सकरी अवस्था मे है उसका चैड़ीकरण करने का निर्देश दिया। मौके पर मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता, उपजिलाधिकारी कासिमाबाद, एंव कार्यदायी संस्था के अधिकारी उपस्थित थे।

संबंधित ख़बरें...